चंडीगढ़ में स्थापित होगा नारकोटिक्स ब्यूरो

हरियाणा सरकार का फैसला
प्रदेश में ड्रग्स की रोकथाम को करेगा काम

चंडीगढ़. नशे के बढ़ते चलन के मामले में पंजाब को पीछे छोड़ चुके हरियाणा सरकार ने चंडीगढ़ में नारकोटिक्स कंट्रोल ब्यूरो की स्थापना का फैसला किया है। एनसीआरबी द्वारा जारी रिपोर्ट के बाद सक्रिय हुए गृहमंत्री अनिल विज ने इस संबंध में विभागीय अधिकारियों को दिशा-निर्देश जारी कर दिए हैं। यह ब्यूरो पूरी तरह से ड्रग्स की रोकथाम और नशा कारोबारियों पर शिकंजा कसने का काम करेगा।

नेशनल क्राइम रिकार्ड ब्यूरो की जारी रिपोर्ट में कहा गया है कि हरियाणा में एक साल के दौरान ड्रग्स से 86 मौत और नकली शराब से 162 लोगों की जान गई है। इस मामले में पंजाब में हालात पहले के मुकाबले सुधरे हैं। जिसके चलते पंजाब की कांग्रेस सरकार अपनी पीठ थपथपाते हुए हरियाणा व केंद्र की भाजपा सरकार को घेर रही है।

गृह मंत्री अनिल विज ने कहा है कि ड्रग्स की रोकथाम के लिये चंडीगढ़ ब्यूरो बनेगा। विज ने कहा, प्रदेश में ड्रग्स के बढ़ते चलन को देखते हुए यह फैसला लिया गया है। खुद सीएम मनोहर लाल खट्टर एनसीआरबी की रिपोर्ट पर काफी गंभीर हैं। सूत्रों का कहना है कि इस मुद्दे पर वे जल्द ही चंडीगढ़ में हाई लेवल मीटिंग बुलाने वाले हैं। साथ ही, सभी जिलों के डीसी और एसपी के साथ भी वे बैठक करेंगे ताकि नशे के कारोबारियों पर शिकंजा कसा जा सके।

सीएम मनोहर लाल खट्टर प्रदेश में ड्रग्स पर काबू पाने के लिए उत्तरी भारत के सभी राज्यों को एक मंच पर लाने की पहल भी कर चुके हैं। हरियाणा के अलावा पंजाब, उत्तर प्रदेश, नई दिल्ली, उत्तराखंड, हिमाचल प्रदेश, चंडीगढ़, जम्मू-कश्मीर व राजस्थान मिलकर पंचकूला में कंट्रोल रूम बनाने का भी फैसला ले चुके हैं।


हरियाणा की अधिक खबरों के लिए क्लिक करें...
पंजाब की अधिक खबरों के लिए क्लिक करें...

Show More
Devkumar Singodiya Desk
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned