महंत की हत्या ने पुलिस को चकरघिन्नी बनाया, जब राज खुला तो माथा पीट लिया

रामभजदास प्राचीन हनुमान मंदिर का महंत तो नहीं बन पाया, हां राम को जरूर प्यारा हो गया।

By: Bhanu Pratap

Published: 07 Jul 2020, 06:44 PM IST

सोनीपत। पिछले दिनों हरियाणा के कैथल में शृंगी ऋषि डेरे के महंत रामभजदास की हत्या हो गई। इस हत्या को लेकर पुलिस चकरघिन्नी बन गई। फिर पुलिस के हाथ कुछ बदमाश लगे तो सारा रहस्य खुल गया। पुलिस ने अपना माथा पीट लिया। रामभजदास की करनी सबके सामने आ गई। वह महंत तो नहीं बन पाया, हां राम को जरूर प्यारा हो गया।

मंहत बनने के लिए पांच लाख रुपये में हत्या की सुपारी

कैथल में हनुमान मंदिर काफी प्रसिद्ध है। इसके महंत राघव दास शास्त्री हैं। शृंगी ऋषि डेरे के महंत रामभजदास हनुमान मंदिर के महंत बनना चाहते थे। इसके लिए जरूरी था महंत राघव दास को रास्ते से हटाना। रामभजदास ने महंत की हत्या के लिए नरवाना निवासी अजय मेहरा के माध्यम से सोनीपत जिला निवासी पांच बदमाशों को पांच लाख रुपए की हत्या की सुपारी दी थी।

एडवांस को लेकर विवाद, पीटकर मार डाला
24 जून की रात साजिश में शामिल नरवाना निवासी अजय मेहरा ने महंत को सेवक कुलबीर के माध्यम से खरक पांडवा नहर पटरी पर बुलाया। वहां बदमाश अजय के अन्य साथी भी थे। अजय 50 हजार और एडवांस मांगने लगा। रामभजदास 50 हजार रुपए दे चुका था। वह साढ़े चार लाख रुपए हत्या के बाद देना चाहता था। इसलिए विवाद हो और अजय व उसके साथियों ने बाबा पर डंडों से हमला कर दिया। कुलबीर को भी पीटा। वारदात के बाद आरोपी बाबा की गाड़ी, मोबाइल व कुलबीर का मोबाइल और पर्स छीनकर फरार हो गए।

छविदास को हत्या में फंसाना चाहता था

रामभज का एक साल से कैथल स्थित प्राचीन हनुमान मंदिर में आना-जाना था और उसकी नजर मंदिर के महंत बनने पर थी। मंदिर के वर्तमान बुजुर्ग महंत राघव दास शास्त्री (91) की हत्या करवाकर रामभज खुद गद्दी पर बैठना चाहता था। उसे संदेह था कि राघव दास शास्त्री की मौत के बाद सीवन डेरा के महंत छविदास को प्राचीन हनुमान मंदिर का महंत बनाया जा सकता है। इसलिए अगली चाल छविदास को राघव दास शास्त्री के मर्डर में फंसाने की थी। उसके बाद मंदिर की महंती के लिए कोई दावेदार नहीं होता और रामभज गद्दी पर बैठ जाता।

पुलिस को असली बदमाशों की तलाश

क्राइम इनवेस्टीगेशन एजेंसी वन इंचार्ज अनूप सिंह, एसआई बिजेंद्र सिंह व कलायत एसएचओ सोमवीर ने बताया कि टीम ने पांच आरोपियों को काबू कर लिया। सोनीपत निवासी बदमाश रोहित, मयंक, आशीष व अजय मेहरा की तलाश की जा रही है।

Show More
Bhanu Pratap
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned