बजट के बावजूद 270 वर्ष में सूने तालाब का गहरीकरण नहीं

बजट के बावजूद 270 वर्ष में सूने तालाब का गहरीकरण नहीं

Suresh Kumar Mishra | Updated: 02 Feb 2016, 11:44:00 PM (IST) Panna, Madhya Pradesh, India

धरम सागर तालाब के सूखने का मामला, कलेक्टर ने तत्काल सफाई कराने के दिए हैं निर्देश


पन्ना
मदार टेकरी की तलहटी में बना धरम सागर तालाब ऐतिहासिक 270 साल बाद पूरी तरह से सूख चुका है। इसकी सफाई शुरू कराने का इससे अच्छा अवसर शायद ही कभी मिले। मामले में कलेक्टर के निर्देश के बाद भी नगर पालिका प्रबंधन ने अभी तक तालाब का काम शुरू नहीं कराया है। इससे नागरिकों में नगर पालिका की उदासीनता को लेकर आक्रोश है।
गौरतलब है कि शहर का धरम सागर तालाब प्रचीन इंजीनियरिंग का बेजोड़ नमूना है। इसे शहर के प्रमुख कुओं से चिनी मिट्टी की पाइप लाइन से जोड़ा गया था, ताकि  कभी पानी की समस्या नहीं हो।


कलेक्टर का निर्देश भी बेअसर
कलेक्ट्रेट में आयोजित बैठक में कलेक्टर शिवकुमार सिंह चौहान ने नपाध्यक्ष से तत्काल धरम सागर में सफाई अभियान शुरू कराने के निर्देश दिए थे। कलेक्टर के निर्देश के बाद भी नगर पालिका प्रबंधन ने अभी तक तालाब के गहरीहकरण का काम शुरू नहीं कराया है। नगर पालिका द्वारा तालाब से फ्री में मिट्टी और मुरम खोदने के लिए जरूर लोगों से कहा गया है, इस दिशा में काम तेजी से शुरू नहीं हो सका है, जबकि यहां तत्काल खुदायी का काम शुरू कराने की जरूरत है।

तालाब की जमीन पर अतिक्रमण

पगर पालिका परिषद पन्ना के पूर्व अध्यक्ष बृजेंद्र सिंह बुंदेला ने बताया, सरकारी रिकॉर्ड के अनुसार तालाब की जमीन करीब 75 एकड़ है, जबकि अब तालब का रकबा करीब 10 एकड़ ही बचा है। गौरतलब है कि इन दिनों तालाब और पहाड़ी पर बड़ा संख्या में लोग अतिक्रमण कर रहे हैं। रिंग रोड के दूसरी ओर पहाड़ी पर और इसके नीचे दर्जनों की संख्या में लोगों ने घर बना लिया है। इससे तालाब की जल भरण क्षमता और कैचमेंट एरिया प्रभावित हो रहे हैं।

MP/CG लाइव टीवी

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned