सेंट्रल जू अथॉरिटी ने जारी किया अलर्ट, बंद कर दिया गया है जू

यह पहला मौका है, जब भारत में इंसान से वन्यजीवों में संक्रमण की आशंका जताई गई है....

By: Ashtha Awasthi

Published: 03 May 2021, 11:22 AM IST

पन्ना/ रीवा। पूरे मध्यप्रदेश में कोरोना (coronavirus) से हाहाकार मचा हुआ है। कोरोना के कहर से इंसानी जीवन तो संकट में है ही, लेकिन अब वन्यजीवों पर भी संक्रमण का खतरा मंडराने लगा है। केंद्रीय वन व पर्यावरण मंत्रालय ने चेतावनी दी है कि इंसानों से कोरोना वायरस का संक्रमण वन्यजीवों में हो सकता है।

मंत्रालय ने एक शेर की कोरोना संक्रमण से मौत होने की पुष्टि करते हुए देश के सभी नेशनल पार्क, सेंचुरी और संरक्षित क्षेत्र के अधिकारियों को एडवायजरी जारी कर इंसानों से वन्यजीवों को दूर रखने और वायरस से सुरक्षा के तमाम उपाय किए जाने के निर्देश दिए हैं। यह पहला मौका है, जब भारत में इंसान से वन्यजीवों में संक्रमण की आशंका जताई गई है।

MUST READ: बच्चे रहते हैं दूर, मां-बाप की सेवा के लिए सामने आ रहे 108 एंबुलेंस के कर्मचारी

corona_new.jpg

जू अथॉरिटी का भी अलर्ट

कोरोना को लेकर सेंट्रल जू अथॉरिटी ने भी अलर्ट जारी किया है। मुकुंदपुर जू एंड टाइगर सफारी के प्रबंधन ने इसकी पुष्टि करते हुए बताया कि जू को कोरोना की दूसरी लहर आने के बाद से बंद कर दिया गया था।

इधर, अलर्ट के बाद पन्ना नेशनल पार्क प्रबंधन टास्क फोर्स और रैपिड एक्शन फोर्स का गठन करने जा रहा है, इसमें वन अमले के साथ डॉक्टर और कर्मचारी शामिल होंगे। वे जानवरों में कोरोना के लक्षण का पता लगाएंगे।

मप्र के एपीसीसीएफ, चीफ वाइल्ड लाइफ वार्डन जेएस चौहान का कहना है कि कोरोना का खतरा बाघों में कम है। नेशनल पार्क और सेंचुरी में काम कर रहे कर्मचारियों में यदि कोरोना के लक्षण दिखते हैं तो उन्हें प्रवेश नहीं दिया जाता।

coronavirus Coronavirus causes
Ashtha Awasthi
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned