विवाद के बाद पत्नी के मायके जाने का गम पति को बर्दाश्त नहीं, खुद को किया आग के हवाले

विवाद के बाद पत्नी के मायके जाने का गम पति को बर्दाश्त नहीं, खुद को किया आग के हवाले
After the dispute, Guma's husband did not tolerate mother's death

Bajrangi Rathore | Updated: 12 Jul 2019, 01:08:13 AM (IST) Panna, Panna, Madhya Pradesh, India

विवाद के बाद पत्नी के मायके जाने का गम पति को बर्दाश्त नहीं, खुद को किया आग के हवाले

पन्ना। मप्र के पन्ना जिले के शाहनगर थान क्षेत्र में नशे की लत ने एक और परिवार को न सिर्फ बर्बादी कगार पर ला दिया बल्कि उससे उपजी परिवारिक कलह ने एक युवक की मौत का कारण भी बन गई। मामला शाहनगर थाना क्षेत्र के ग्राम सुडौर का है। दिल दहला देने वाले इस घटनाक्रम जहां एक युवक की जान चली गई वहीं उसकी चार साल की बेटी अनाथ हो गई और पत्नी का जीवन अधर में लटक गया।

हालात यह है कि उनके घर में कपड़े और बर्तन तक नहीं बचे हैं। ऐसे हालात में अब आगे इस परिवार का भगवान ही मालिक है। बताया गया कि ग्राम सुडौर निवासी शीष कुमार राठौर पिता उस्ताद राठौर का गुरुवार की सुबह किसी बात को लेकर पत्नी यशोदा राठौर से विवाद हुआ। विवाद के बाद पत्नी अपनी चार साल की बच्ची को लेकर मायके कटनी जिले के बड़वारा थाना क्षेत्र के ग्राम निगहरा के लिए रवाना हो गई।

पत्नी के घर से जाने के बाद नाराज पति शीष ने घर की रसोई में रखे केरोसिन को अपने ऊपर छिड़ककर आग लगा ली। आग लगने के कुछ देर बात जब जलन अहसनीय हो गई तो वह कमरे से बाहर की ओर भागा, जिसे आग की लपटों से घिरा देख परिजनों और आसपास के लोगों ने किसी तरह से आग को बुझाया, लेकिन तब तक वह गंभीर रूप से झुलस चुका था।

उसे गंभीर हालत में एम्बुलेंस 108 से सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र शाहनगर लाया गया, जहां से प्राथमिक उपचार के बाद उसे कटनी के लिए रेफर कर दिया गया। जब तक उसे रेफर किया गया तब तक एम्बुलेंस दूसरे कॉल पर निकल गई थी। परिजन उसे ले जाने के लिए वाहन मिलने का इंतजार करते रहे।

करीब एक घंटे तक वाहन नहीं मिल पाया और वाहन के इंतजार के दौरान ही उसकी अस्पताल में मौत हो गई। मौत के बाद पीएम कराने के लिए ले जाने के लिए भी वाहन उपलब्ध नहीं हो सका। मृतक के परिजनों द्वारा 1100 रुपए में निजी वाहन करके पीएम के लिए ले जाया गया।

आधे रास्ते से लौटी पत्नी ने बताई व्यथा

पत्नी यशोदा बच्ची को लेकर कटनी तक ही पहुंची थी कि उसे जानकारी दी गई कि उसके पति शीष ने आग लगा ली है। इससे वह आधे रास्ते से ही मायके नहीं जाकर वापस अस्पताल आ गई। जहां उसने पाया कि उसके पति की मौत हो गई। महिला यशोदा ने बताया, उसके पति को नशे की लत लगी थी।

इसके कारण उसने घर गृहस्थी का सभी सामान बेच दिया। यहां तक कि सोने के कपड़े, गहने और अनाज सहित अन्य सामग्री तक बेच दी थी। गुरुवार की सुबह उन्होंने घर के बर्तन तक बेच दिए। इसी बात को लेकर उसका पति के साथ विवाद हुआ था। उसने समझाया कि हमारी एक चार साल की बेटी है।

उसके भविष्य के बारे में तो सोचो। समझाइश नहीं मानने पर वह बच्ची को लेकर अपने मायके जा रही थी, इसी दौरान उनके आग लगा लेने की जानकारी मिलने पर वापस लौट आई। पत्नी यशोदा का कहना है कि पति की इन्हीं आदतों के चलते वह अक्सर मायके में ही रहती थी। कुछ दिनों पूर्व ही वह मायके से आई हुई थी।

पत्नी ने बताया कि उसका पति आवारा किस्म का था। शराब पीने को लेकर उनका प्रतिदिन विवाद होता था। वह पत्नी के साथ मारपीट भी करता था। इसी कारण से वह मायके में रहती थी। आज सुबह भी विवाद हुआ, जिसको लेकर युवक की पत् नी मायके चली गई थी। जिस कारण युवक ने अपने आप को आग के हवाले कर दिया।

शिवराम नायक, जांच अधिकारीथाना शाहनगर

MP/CG लाइव टीवी

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned