रात 2.30 बजे डरा-धमकाकर की थी लूट, पुलिस गिरफ्त में आए तो उगले सारे राज

रात 2.30 बजे डरा-धमकाकर की थी लूट, पुलिस गिरफ्त में आए तो उगले सारे राज
At 2.30 pm, there was robbery

Bajrangi Rathore | Updated: 27 May 2019, 06:32:51 PM (IST) Panna, Panna, Madhya Pradesh, India

रात 2.30 बजे डरा-धमकाकर की थी लूट, पुलिस गिरफ्त में आए तो उगले सारे राज

पन्ना। मप्र के पन्ना जिले के अमानगंज थाना क्षेत्र के ग्राम टेढ़ीधार और सप्तइया के बीच बाइक सवार तीन लोगों ने बाइक पंचर होने से पैदल जा रहे दो युवकों से गहने, नकदी और मोबाइल लूट लिया था। पीडि़त युवकों ने मामले की रिपोर्ट अमानगंज थाने में दर्ज कराई थी।

पुलिस ने बाइक से मिली पहचान के आधार पर एक-एक कर तीनों आरोपियों को गिरफ्तार कर लिया है। आरोपियों के पाच से लूटे गए गहने, नकदी और मोबाइल आदि बरामद कर लिए गए हैं। अमानगंज पुलिस के अनुसार ग्राम तिघरा भड़ार निवासी राघवेंद्र बागरी पिता बाला प्रसाद बागरी और चाचा रोहित बागरी 22 मई की रात विवाह कार्यक्रम में शामिल होने के बाद बाइक से घर लौट रहे थे।

रात करीब 2.30 बजे ग्राम टेड़ीधार व सप्तइया के बीच उनकी बाइक पंचर हो गई। बाइक पंचर होने के बाद वे पैदल चल रहे थे। इसी दौरान एक बिना नंबर की बाइक से तीन अज्ञात लोग आए और उनका रास्ता रोककर डराने लगे। आरोपियों ने डारा धमकाकर राघवेंद्र से एक सोने की चैन एवं अंगूठी व 1200 रुपए छीन लिए, जबकि चाचा रोहित से मोबाइल एवं 800 रुपए छीनकर फरार हो गए।

राघवेंद्र ने मामले की रिपोर्ट 25 मई को अमानगंज थाने में दर्ज कराई थी। जिस पर अज्ञात आरोपियों के खिलाफ लूट की धाराओं के तहत अपराध दर्ज कर मामले को विवेचना में लिया गया था।

बगैर नंबर प्लेट वाली और बाइक के मॉडल से आए पकड़ में

पीड़तों ने पुलिस को बताया कि आरोपी बगैर नंबर प्लेट वाली बाइक से आए थे। इसके साथ ही बाइक की कंपनी और मॉडल के बारे में भी जानकारी दी थी। जिसके आधार पर पुलिस ने आरोपियों की तलाश शुरू की तो पता चला कि इस प्रकार की बाइक ग्राम बुधेड़ा के सुरेन्द्र सिंह उर्फ छोटू सिंह पिता रनमत सिंह के पास है। इसी सुराग के आधार पर पुलिस ने आरोपी सुरेंद्र सिंह को पकड़ लिया। जिससे सख्ती के साथ पूछताछ पर उसने दो अन्य आरोपियों के साथ मिलकर लूट की वारदात को अंजाम देने की बात स्वीकार की।

आरोपी सुरेंद्र सिंह ने बताया, 22 मई को ग्राम देवीपुरा में विवाह कार्यक्रम में शामिल होने गया था। जहां उसने रामराजा पिता निरपत सिंह निवासी ग्राम चंदाना और मानवेन्द्र पिता डीलन बुन्देला निवासी ग्राम भजिया थाना सिमरिया के साथ बैठकर शराब पी। उसके बाद जूड़ी पेट्रोल पंप चले गए।

लूटे गए गहने और नकदी का कर लिया था बंटवारा

आरोपी ने पुलिस को बताया, रास्ते में उन्हें टेड़ीधार व सप्तइया के बीच दो व्यक्ति बाइक से पैदल जाते दिखे। जिनको डरा धमकाकर लूट की गई थी। लूटे गए सामान का तीनों ने बंटवारा कर लिया था। आरोपी के पास से सोने की चैन व बाइक बरामद जब्त कर ली गई है।

इसके बाद आरोपी राजाराम को गिरफ्त में लेकर पूछताछ की गई। मोबाइल व 1000 रुपए जब्त किया गया है। इसी तरह तीसरे आरोपी मानवेन्द्र को भी गिरफ्तार कर उसके पास से सोने की अंगूठी बरामद की गई है।

MP/CG लाइव टीवी

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned