श्मशान में अंतिम संस्कार रोकने पर बवाल

श्मशान में अंतिम संस्कार रोकने पर बवाल

By: Bajrangi rathore

Published: 15 Nov 2018, 01:25 AM IST

पन्ना (अजयगढ़)। श्मशान भूमि पर अंतिम संस्कार करने पर रोकने से बवाल मच गया। मामले की जानकारी लगने पर पुलिस प्रशासन ने मौके पर पहुंचकर स्थिति को संभाला। दोनों पक्ष के लोगों को समझाया और इसके बाद शाम को अंतिम संस्कार किया गया।

नगर के बगराजन स्थित श्मशान भूमि पर चौबे परिवार, रैकवार समाज एवं यादव समाज के लोग परिजनों का अंतिम संस्कार करते रहे हैं। कुछ समय बाद इस भूमि पर बारेलाल सोनकर द्वारा अतिक्रमण कर कृषि कार्य किया जाने लगा और मकान भी बना लिया। बुधवार को चौबे परिवार की एक महिला की मृत्यु होने पर परिवार के लोग अंतिम संस्कार के लिए शव लेकर गए तो अतिक्रमणकर्ता परिवार अंतिम संस्कार करने से रोकने लगा। इससे विवाद की स्थिति बन गई।

स्थानीय लोगों ने बताया, अतिक्रमणकर्ता परिवार के लोग अंतिम संस्कार रुकवाने विवाद करने लगे। विवाद की स्थिति बनती देख पुलिस और स्थानीय प्रशासन को मामले की जानकारी दी गई। कुछ ही देर में यह जानकारी कलेक्टर तक पहुंच गई। कलेक्टर ने स्थानीय प्रशासन से स्थिति के बारे में जानकारी ली।

एसडीएम जेएस बघेल, एसडीओपी इसरार मंसूरी, टीआइ वीरेन्द्र बहादुर सिंह मौके पर पहुंच और स्थिति को नियंत्रण में कर शव का अंतिम संस्कार कराया। लोग श्मशान भूमि को अतिक्रमण से मुक्त कराने की मांग कर रहे हैं। लोगों का कहना है कि श्मशान भूमि पर अतिक्रमण होने से अंतिम संस्कार को लेकर हमेशा विवाद की स्थिति बनती है।

शासकीय दस्तावेजों में दर्ज श्मशान भूमि

स्थानीय प्रशासन की ओर से बताया गया कि उक्त भूमि 28 अक्टूबर 2006 को प्रकरण क्रमांक 1/ए-59-0607 को कलेक्टर के आदेश के मुताबिक राजस्व अभिलेख में श्मशान भूमि दर्ज है। उक्त भूमि का कलेक्टर ने फैसला कर 26 अक्टूबर 2006 को श्मशान भूमि घोषित किया था। जिसका सीमाकंन 10 फरवरी 2008 में किया गया। आराजी नंबर 209/1ख/2 रकबा 0.800 हेक्टेयर राजस्व रेकॉर्ड में श्मशान भूमि दर्ज है।

अनियंत्रित बाइक फिसलने से युवक की मौके पर मौत

रैपुरा में तेज रफ्तार बाइक अनियंत्रित होकर फिसलने से युवक की मौत हो गई। राहगीरों की सूचना पर पुलिस मौके पर पहुंची। जानकारी के अनुसार ग्राम गजंदा निवासी छंगा लोधी पिता रम्मू लोधी अपनी बहन के यहां ग्राम मलघन आया था।
बुधवार दोपहर करीब 2.30 वह बाइक क्रमंाक एमपी 35 एमई 2224 से अपने गांव लौट रहा था। इसी बीच ग्राम तुल्ला एवं मलघन के बीच वह तेज रफ्तार बाइक से नियंत्रण खो बैठा और बाइक सड़क से फिसले हुए काफी दूर तक घिसटती चली गई, इससे उसकी मौत हो गई।

ग्रामीणों की सूचना पर पुलिस मौके पर पहुंची और शव का पंचनामा बनाकर पीएम के लिए भेज दिया। पुलिस ने मामले में मर्ग कायम कर प्रकरण को जांच में लिया है।

Bajrangi rathore Desk
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned