जिस हाथी पर बैठते थे उसी ने ले ली रेंजर की जान, गिराकर दांतों से कुचला

पन्ना टाइगर रिजर्व से बुरी खबर, हाथी ने रेंजर की ली जान, बाघ सर्चिंग के दौरान की घटना..

By: Shailendra Sharma

Published: 14 Aug 2020, 03:35 PM IST

पन्ना. पन्ना टाइगर रिजर्व के हिनौता रेंज ऑफिस के रेंजर डीएस भगत की मौत हो गई है। रेंजर हाथी रामबहादुर के हमले का शिकार हुए हैं। बताया जा रहा है कि रामबहादुर को बैठने का निर्देश दिया गया था इसी दौरान हाथी रामबहादुर ने रेंजर को पहले तो ऊपर से गिराया और फिर अपने दांतों से कुचल दिया। फील्ड डायरेक्टर केएस भदौरिया ने रेंजर डीएस भगत की मौत की पुष्टि करते हुए घटना के बारे में जानकारी दी है।

बाघ सर्चिंग के दौरान घटना
बताया जा रहा है कि हिनौता रेंज के रेंजर डीएस भगत स्टाफ के साथ जंगल में टाइगर ट्रेकिंग के लिए निकले थे इसी दौरान हाथी रामबहादुर जो कि रेंजर भगत से अच्छे से परिचित था उसे बैठने के निर्देश दिए थे लेकिन उसने आदेश न मानते हुए पहले तो अपनी पीठ से पसला रेंजर के ऊपर गिराया और फिर अपने दांतों से उन्हें कुचल दिया जिससे उनकी मौके पर ही मौत हो गई। बता दें कि बीते दिनों पन्ना टाइगर रिजर्व में बाघों के बीच लड़ाई हुई थी जिसमें एक बाघ की मौत हो गई थी। बाघ की मौत की खबर वन विभाग को चार दिन बाद लगी थी। इसी घटना को लेकर रेंजर भगत स्टाफ के साथ दूसरे बाघ की तलाश में जंगल में जा रहे थे। इसी दौरान ये हादसा हुआ है। पन्ना टाइगर रिजर्व के 542 वर्ग किलोमीटर क्षेत्रफल वाले कोर एरिया में बाघों की संख्या बढ़ती जा रही है अभी यहां 39 से ज्यादा बाघ रहते हैं। जो रिजर्व की औसत क्षमता से चार पांच ज्यादा हैं। पन्ना टाइगर रिजर्व में एक हजार वर्ग किलोमीटर से ज्यादा का बफर जोन है। कोर और बफर जोन दोनों को मिलाकर इस क्षेत्र में करीब 60 बाघ रहते हैं। इसकी वजह से ही बाघों के बाच आपसी संघर्ष की घटनाएं बढ़ती जा रहा हैं।

Show More
Shailendra Sharma
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned