लोकपाल सागर तालाब से हटाया गया अतिक्रमण, भारी संख्या में सुरक्षा बल रहे तैनात

सुबह से शुरू होकर शाम तक चली कार्रवाई

पन्ना. नगर के तालाबों का सीमांकन करने के बाद शुक्रवार को जिला प्रशासन ने अतिक्रमणकारियों के अतिक्रमण हटाने की कर्रवाई लोकपाल सागर से शुरू की। अतिक्रमण हटाने की कार्रवाई सुबह 11 बजे से शुरू होकर दिनभर चली। एहतियात के तौर पर सुरक्षा बल तैनात रहा। इस दौरान तालाब के क्षेत्र में चिह्नित पूरे 11 हेक्टेयर से अतिक्रमण हटा लिया गया है। अतिक्रमण हटाने के बाद एक दो मंजिला बावड़ी निकली। इसमें अंदर तक जाने के लिए तीन तरफ से सीढिय़ां बनी हुई हैं।

अतिक्रमण से तालाब बारिश में भी नहीं भर पाया था
गौरतलब है कि नगर के तालाब अतिक्रमण की चपेट में हैं। इनके कैचमेंट एरिया में अतिक्रमण होने से बारिश का पानी तालाबों में नहीं पहुंच पाता है। इससे इस साल 1100 मिमी से भी ज्यादा बारिश होने के बाद भी सिर्फ निरपत सागर ही भर पाया था। धरम सागर और लोकपाल सागर तालाब खाली रह गए थे। तालाबों से अतिक्रमण हटाने की मांग लंबे समय से की जा रही थी। जिसको लेकर जिला प्रशासन द्वारा बीते दिनों तालाबों का सीमांकन कराया गया था। सीमांकन कार्य पूरा होने के बाद तालाब से चिह्नित अतिक्रमण को शीघ्र हटाने की मांग की जा रही थी।

तहसीलदार के नेतृत्व में हुई कार्रवाई
जिला प्रशासन की पहल पर शुक्रवार की सुबह तहसीलदार दीपा चतुर्वेदी के नेतृत्व में अतिक्रमण हटाने की कार्रवाई की गई। लोकपाल तालाब की जमीन पर लोगों ने खखरी और कच्चे घर बनाकर खेती कर रहे हैं। फसलों को छोड़ते हुए जेसीबी से इन खेतों की खखरी और बाड़ी को तोड़ा। खखरी में लगे पत्थरों को जब्त किया गया। जब्ती के बाद पत्थरों को सिंचाई विभाग को सौंपने की बात कही गई। कार्रवाई के दौरान बड़ी संख्या में राजस्व और पुलिस विभाग के अधिकारी और कर्मचारी मौजूद रहे।

पुरुषोत्तमपुर में भी हटाया अतिक्रमण
ग्राम पंचायत पुरुषोत्तमपुर में भी जेल बिल्डिंग के आसपास के कईअ तिक्रमण हटाए गए हैं। इन अतिक्रमण को हटाने की कर्रवाई शाम को की गई। इस कार्रवाई के बाद से अतिक्रमण कारियों में हड़कंप मच गया है। तालाबों के बड़े भू-भाग में माफिया ने कब्जा कर लिया है। जिन्हें सालों से हटाने के प्रयास किए जा रहे थे, लेकिन उन्हें नहीं हटाया जा सका था। जिन क्षेत्रों से अतिक्रमण हटाया गया है वहां दोबारा अतिक्रमण नहीं हो अब यह देखना भी प्रशासन की जिम्मेदारी है।

Anil singh kushwah Desk
और पढ़े

MP/CG लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned