पन्ना टाइगर रिजर्व के बफर क्षेत्र में लगी आग, छह घंटे बाद पाया काबू

- शाम छह बजे लगी थी आग
- रात नौ बजे पहुंचा वन अमला
- रात 12.30 बजे आग पर काबू पाया

By: Hitendra Sharma

Published: 07 Mar 2021, 10:05 AM IST

पन्ना. पन्ना टाइगर रिजर्व बफर क्षेत्र में तरौनी से लगे इलाके में शुक्रवार शाम 6 बजे आग लग गई। ग्रामीणों की सूचना पर रात 9 बजे वन अमला पहुंचा और रेस्क्यू शुरू किया। तब तक आग तरौनी गांव के सीमा तक पहुंच गई। रात में ही कलेक्टर और डीएफओ के पहुंचने के बाद स्थानीय प्रशासन के अधिकारी एसडीएम और तहसीलदार भी ग्राम तरौनी पहुंच गए। आग धरमपुर रेंज की बीट सिंहपुर के कंपार्टमेंट-12 एवं बफर जोन के कंपार्टमेंट-20 में लगी थी, जिसे छह घंटों मशक्कत के बाद बुझा लिया गया है।

रात 9 बजे के बाद शुरू हुआ रेस्क्यू
वन विभाग के अमले ने रात 9 आग बुझाने के लिए रेस्क्यू शुरू किया। आगजनी की जानकारी लगने पर रात 11.30 बजे कलेक्टर संजय कुमार मिश्रा व डीएफओ गौरव शर्मा, एसडीओ दिनेश गौर अमले के साथ ग्राम तरौनी पहुंच गए। जब तक आग को नहीं बुझा लिया गया तब तक अधिकारी मौके पर रहे। रात 12.30 बजे आग पर काबू पाया गया।

1.png

एक साल पहले भी बफर जोन में आग
पन्ना टाइगर रिजर्व के मडिय़ादो बफरजोन में एक साल पहले भी अचानक आग लग गई थी। दोपहर में तेज धूप और हवा के कारण आग पर काबू पाने में काफी मशक्कत करनी पड़ी थी। आग मडिय़ादो -कलकुआ मार्ग पर सातवें किमी तक जंगल में फैल गई थी। आगजनी के कारण कई एकड़ का जंगल आग की पलटों में झुलसकर बर्बाद हो गया।

हर साल होती हैं आगजनी की घटनाएं
टाइगर रिजर्व के बफर जोन के सुरक्षित जंगलों में गर्मी के सीजन में हर साल आगजनी के दर्जनों मामले आते हैं, टाइगर रिजर्व प्रबंधन द्वारा गर्मी शुरू होने के पूर्व बफर जोन से लगे गांव के लोगों को आग लगने से होने वाले नुकसान के प्रति जागरुक करने के लिए पूरे एक महीने तक दा लास्ट वाइल्डरनेस फाउंडेशन की मदद से अभियान चलाया था। इसके बाद भी आग का लगना कहीं न कहीं अमले की लापरवाही को ही प्रदर्शित करता है।

Show More
Hitendra Sharma
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned