दिनभर हवन, कन्याभोज और भंडारे, देर रात तक विसर्जन

दिनभर हवन, कन्याभोज और भंडारे, देर रात तक विसर्जन
दिनभर हवन, कन्याभोज और भंडारे, देर रात तक विसर्जन

Shashikant Mishra | Updated: 13 Sep 2019, 01:31:36 PM (IST) Panna, Panna, Madhya Pradesh, India

अनंत चतुर्दशी पर हजारों श्रद्धालुओं ने नम आखों से गणपति बप्पा को दी विदाई
गणपति बप्पा के जयकारों से गूंजे नगर और गांव

पन्ना. दस दिनों तक चले गणेशोत्सव का अनंत चतुर्दशी पर हवन, कन्याभोज और भंडारे के साथ समापन हो गया। अनंत चतुर्दशी पर दिनभर धार्मिक कार्यक्रम चलते रहे। शाम को गाजे-बाजे के साथ गणपति की शोभायात्रा और विसर्जन का कार्यक्रम चला। कुछ प्रतिमाओं की शोभायात्रा रात १० बजे के बाद भी निकाली जाती रही। जिला मुख्यालय में धरम सागर चौपरा, कमलाबाई ताल और दहलानताल में प्रतिमाओं के विसर्जन का सिलसिला देर रात तक चलता रहा। विसर्जन स्थलों पर प्रशासन द्वारा सुरक्षा के भी इंतजाम किए गए थे।


अनंत चतुर्दशी पर भगवान श्रीगणेश की प्रतिमाओं के विसर्जन की तैयारियां सुबह से ही शुरू हो गई थीं। सुबह से दोपहर तक हवन, कन्याभोज और भंडारे के कार्यक्रम शुरू हुए। यह शाम तक चलते रहे। इसके बाद प्रतिमाओं के चल समारोह और विसर्जन का सिलसिला शुरू हुआ। यह देर शाम तक चलता रहा। नगर के विभिन्न गलियों से डीजे की धुन में थिरकते युवाओं द्वारा प्रतिमाओं को विसर्जन स्थल तक लाया गया। चल समारोह में थिरकते युवा गुलाल उड़ाते चल रहे थे। एनएमडीसी मझगवां में भी विसर्जन के पूर्व गाजे-बाजे के साथ शोभायात्रा निकाली गई। शोभायात्रा के दौरान जगह-जगह लोगों ने भगवान की आरती उतारी।

MP/CG लाइव टीवी

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned