नगर पालिका अध्यक्ष के वार्ड में स्वच्छता की निकली हवा, ODF का दावा फुस्स

suresh mishra

Publish: Nov, 15 2017 11:30:59 (IST)

Satna, Madhya Pradesh, India
नगर पालिका अध्यक्ष के वार्ड में स्वच्छता की निकली हवा, ODF का दावा फुस्स

अध्यक्ष के घर के सामने कचरे का ढेर और स्कूल के पास दिनभर लौटते हैं सूअर, नियमित नहीं पहुंचती कचरा गाड़ी, सड़क पर बह रहा नालियों का गंदा पानी

पन्ना। पन्ना ओडीएफ नगर पालिका घोषित है। शहर में सभी जगह शौचालय बन गए हैं और नालियों का निर्माण भी हो गया है। कचरा खुले में नहीं फेंका जा रहा है, लेकिन इसके विपरीत नगर पालिका अध्यक्ष के वार्ड की हालत सबसे खराब है। वार्ड में सूअरों का आतंक है। प्राइमरी स्कूल के सामने दिनभर सूअरों का जमावड़ा लगता है। स्कूल के बच्चे और शिक्षक यहां की गंदगी से परेशान हैं।

वार्ड में कई स्थानों पर अभी तक नाली नहीं बनी है। जो कच्ची नालियां हैं उन्हें भी कई-कई दिनों तक साफ नहीं किया जाता है। जिससे नालियों का पानी सड़कों पर बह रहा है। इतना ही नहीं नपाध्यक्ष के घर के सामने दिनभर Swine लोटते रहते हैं। मोहल्ले के लोग उनके घर के बगल में ही कूड़ा फेंक जाते हैं।

गौरतलब है कि पन्ना डस्टबिन रहित शहर है। यह पवित्र नगरी भी है और अब इसे ओडीएफ का खिताब भी मिल चुका है। देखने और सुनने में बड़ी चमकीली सी तस्वीर बनती है दिमाग में। मगर नपाध्यक्ष के वार्ड को देखने के बाद हर किसी के दिमाग में बन रही सुनहरी तस्वीर धूमिल हो जाती है। हालत यह है कि जिस वार्ड को नगर का सबसे स्वच्छ वार्ड होना चाहिए वह नगर के सबसे गंदे वार्डों में से एक है।

नालियां नहीं, सड़कों पर बहता गंदा पानी
नपाध्यक्ष मोहनलाल कुशवाहा के ही वार्ड में अभी तक सभी जगह नालियां नहीं बन पाई हैं। जिससे कई क्षेत्रों में कच्ची नालियां बनी हैं। वार्ड के लोगों ने बताया कि इस वार्ड में नालियों की नियमित रूप से सफाई नहीं की जाती है, जिससे कई स्थानों पर नालियों का गंदा पानी सड़कों पर बह रहा है। इसी गंदे पानी से होकर लोगों को अवागमन करना होता है। निवासियों के अनुसार वार्ड के कुछ क्षेत्रों में नियमित रूप से कुछ हिस्सों में कचरा गाड़ी नहीं पहुंचती है। इससे लोग जगह-जगह कचरा फेंक देते हैं। कचरा में खाद्य सामग्री होने के कारण Swine और मवेशी उसे जगह-जगह फैला देते हैं।जिससे मार्ग चलने लायक नहीं बचता है। वार्ड के लोगों ने बताया, नगर पालिका अध्यक्ष द्वारा एक मकान को किराए पर दिया गया है। इसी घर के पास लोगों ने कूड़ा घर बना लिया है।

तालाब में गिर रही आधे शहर की गंदगी
शहर का सिंहसागर तालाब नपाध्यक्ष के घर से लगा है। इस तालब में अजयगढ़ चौक के नीचे से लेकर होमगार्ड ऑफिस के आसपास के आधा दर्जन से भी अधिक नालों का गंदा पानी गिरता है। इससे तालाब का पानी दूषित हो गया है। पहले तालाब के दूसरे छोर पर शहर का कचरा डंप किया जा रहा था, जिससे प्रदूषण अधिक हो रहा था। अब कचरा डंप करना बंद कर दिया गया है, लेकिन नालों के पानी को तालाब में उपचारित करके गिराने के प्रयास नहीं किए गए। जिससे आध शहर की गंदगी तालाब में हर रोज मिल रही है। शहर में कहीं भी प्रापर ड्रेनेज सिस्टम नहीं होने से भी तालाबों की हालत खराब बनी हुई है।

स्कूल के बाहर सूअरों का जमावड़ा
प्राइमरी स्कूल टिकुरिया मोहल्ला नपाध्यक्ष के घर से ज्यादा दूर नहीं है। इससे उम्मीद की जाती है कि यह स्थान शहर के अन्य स्थानों से अधिक स्वच्छ होगा, लेकिन यहां 24 घंटे मोहल्ले के सूअरों का जमावड़ा रहता है। Swine यहां दिनभर गंदगी करते रहते हैं। स्कूल के आसपास गंदगी होने के कारण बच्चों के सेहत पर गंभीर असर पडऩे की आशंका बनी रहती है।

स्कूल के पास नियमित रूप से सफाई कराई जाती है। आसपास Swine पालकों के होने के कारण कचरा अधिक होता है। इस संबंध में नगर पालिका और डीईओ की ओर से बाउंड्रीवाल बनाने का प्रस्ताव भेजा गया है।
मोहनलाल कुशवाहा, अध्यक्ष नगर पालिका पन्ना

Rajasthan Patrika Live TV

1
Ad Block is Banned