दशकों बाद लोकसभा और विधानसभा में एकसाथ गूंजे पन्ना के मुद्दे

दशकों बाद लोकसभा और विधानसभा में एकसाथ गूंजे पन्ना के मुद्दे
दशकों बाद लोकसभा और विधानसभा में एकसाथ गूंजे पन्ना के मुद्दे

Shashikant Mishra | Updated: 26 Jul 2019, 01:03:49 PM (IST) Panna, Panna, Madhya Pradesh, India

सांसद वीडी शर्मा ने खजुरहो में हवाई सेवा शुरू करने, बंग्लादेशी शरणार्थियों और मझगंाय नहर परियोजना के मुद्दे को उठाया
विधायक बृजेंद्र प्रताप सिंह ने जिला अस्पताल के उन्नयन, इंजीनियरिंग कॉलेज, एग्रीकल्चर कॉलेज, बरियारपुर डैम के जल बंटवारे के मामले उठाए

पन्ना . कई दशकों बाद ऐसा देखा जा रहा है कि लोकसभा और विधानसभा में एक साथ पन्ना जिले के मुद्दे गूंजे हैं। सांसद वीडी शर्मा ने खजुरहो में हवाई सेवा शुरू करने, बंग्लादेशी शरणार्थियों और मझगंाय नहर परियोजना के मुद्दे को उठाया तो वहीं विधायक बृजेंद्र प्रताप सिंह ने जिला अस्पताल के उन्नयन, इंजीनियरिंग कॉलेज, एग्रीकल्चर कॉलेज, बरियारपुर डैम के जल बंटवारे के मामले उठाए है। जिससे जिले के लोगों में भी उत्साह का संचार हुआ है। विधायक और सांसद की इस युवगलबंदी से जिले के लोगों को उम्मीद जागी है कि जिले के लिए कुछ अच्छा हो सकता है। लोगों को उम्मीद के दोनों जनप्रतिनिधि मिलकर जिले के लिए कुछ बेहतर कर सकते हैं, जिससे बेरोजगारी मिट सके और जिले में रोजगार के अवसर श्रृजित हो सकें।


जिला अस्पताल के 100 बेड के उन्नयन का मामला
जिला अस्पताल के 100 बेड से तीन सौ बेड के रूप में उन्नयन की घोषणा तत्कालीन सीएम शिविराज सिंह चौहान ने नवीन संयुक्त कलेक्ट्रेट भवन के लोकार्पण अवसर पर की थी। जिसका भूमि पूजन तत्कालीन मंत्री कुसुम सिंह महदेले ने विस चुनाव की आचार संहिता लगने के महज कुछ मिनटों पूर्व 6अक्टूबर 2018 को किया थी। इसके बाद से प्रदेश में सरकार के बदल जाने के बाद से इस दिशा में विशेष काम नहीं हो रहा था। जिसको देखते हुए पत्रिका द्वारा 11 जुलाई के अंक में राजनीति के झूले में नौ माह से झूल रहा तीन सौ बिस्तरों के अस्पताल का उन्नयन शीर्षक से समाचार को प्रमुखता के साथ प्रकाशित किया था। इसी मामले को पन्ना विधायक बृजेंद्र प्रताप सिंह द्वारा विधानसभा में उठाया गया। जिसपर लोक स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण मंत्री तुलसी सिलावट द्वारा सदन को जानकारी दी गई है।
गौरतलब है कि केंद्र सरकार की आयुषमान योजना के तहत तीन लोकसभा क्षेत्र में से किसी एक में मेडिकल कॉलेज खोला जाना था। खजुराहो लोकसभा क्षेत्र में पन्ना के लोग पन्ना मुख्यालय में मेडिकल कॉलेज खोलने की मांग कर रहे थे। कार्यक्रम में सीएम ने मेडिकल कॉलेज के बजाए जिला अस्पताल का उन्नयन 200 से 300 बिस्तरों वाले अस्पताल के रूप में करने की घोषणा की थी। जिसके लिए कैबिनेट की बैठक में स्वीकृति मिलने के साथ ही राशि 1729.24 लाख रुपए की स्वीकृति दी गई थी। उक्त निर्माण कार्य का भूमि पूजन ६ अक्टूबर को दोपहर में विस चुनाव की आचार संहिता लगने के चंद मिनटों पहले किया था। इसके बाद सरकार बदल जाने के कारण मामले में जमीनी स्तर पर काम नहीं हो पहा रहा था। इसको पत्रिका द्वारा प्रमुखता के साथ उठाया गया था।


मंत्री सिलावट ने यह दिया जवाब
विधायक बृजेंद्र प्रताप सिंह द्वारा जिला अस्पता के उन्नयन और ट्रामा सेंटर को लेकर पूछे गए सवाल के जवाब में प्रदेश शासन के लोक स्वास्थ्य परिवार कल्याण मंत्री तुलसी सिलावट ने बताया, जिला अस्पताल में 300 बिस्तरों के स्वीकृति ३ जनवरी २2019 को स्वीकृत है। जबकि ट्रामा सेंटर के स्थापना की स्वीकृति ७ फरवरी 2018 को जारी की जा चुकी है। ट्रामा सेंटर का भवन का निर्माण कार्य पूर्ण हो चुका है। जबकि जिला अस्पताल पन्ना के 100 बिस्तरों के उन्नयन के साइट प्लान की कार्रवाई प्रचलन में है। जिला अस्पताल में डॉक्टरों के रिक्त पदों को भरे जाने को लेकर पूछे गए सवाल में मंत्री सिलावट ने बताया, जिला चिकित्सालय पन्ना में विशेषज्ञों के 36 पद रिक्त हैं। चिकित्सा अधिकारी के २८ पदों में से १४ रिक्त हैं। रिक्त पदों को भारने के लिए संविदा नियुक्त की प्रक्रिया चल रही है। नियमित रक्त पदों को भरे जाने के लिए लोक सेवा आयोग द्वारा विज्ञापन जारी कर चयन प्रक्रिया की कार्रवाई की जा रही है। पैरामेडिकल स्टॉप के रिक्त पदों की पूर्ति के लिए मप्र प्रोफेश्नल बोर्ड द्वारा चयनित उम्मीदवारों के नियुक्ति की कार्रवाई निरंतर जारी रहती है।


इंजीनियरिंग और एग्रीकल्चर कॉलेज के मुद्दे को भी उठाया
विधायक सिंह ने विधानसभा में प्रशन के माध्यम से इंजीनियरिंग कॉलेज की स्थापना और ध्यानाकर्षण सूचना के माध्यम से एग्रीकल्चर कॉलेज की स्थापना के मामले को भी उठाया है। उन्होंने सूचना में बताया, पन्ना में एग्रीकल्चर कॉलेज खोजे जाने की घोषणा तत्कालीन सीएम शिविराज सिंह चौहान ने की थी। इसके बाद किसान कल्याण तथा कृषि विकास विभाग भोपाल द्वारा ४ अक्टूबर 2018 को कॉलेज खोले जाने को स्वीकृति प्रदान की थी और स्थान सुनिश्चित करके आवंटन प्रस्ताव भी तैयार किया गया था। इस संबंध में आज तक आंगे कोई कार्रवाई नहीं की गई है। जबकि इसके साथ के घोषित एग्रीकल्चर कॉलेजों में प्रवेश प्रक्रिया भी शुरू हो गई है। उन्होंने पूछा, पन्ना जिले के साथ सौतेला व्यवहार क्यों किया जा रहा है ? इसी प्रकार से इंजीनियरिंग कॉलेज के संबंध में उन्होंने पूछा कि पन्ना जिले में स्वीकृत इंजीनियरिंग कॉलेज का काम कब तक शुरू होगा। जिसका जवाब देते हुए मुख्यमंत्री कमलनाथ ने कहा, कॉलेज के शुरू होने को लेकर समय बता पाना मुश्किल है। उन्होंने रेत के अवैध खनन के मामले को शून्यकाल में भी उठाया।


सांसद ने उठाया मझगांव परियोजना का मामला
एक ओर जहां विधायक ने पन्ना विस से जुड़े कई मामलों को उठाया वहीं दूसरी ओर सांसद ने पन्ना में बसे बंग्लादेशी विस्थापितों के मामले को उठाने के साथ ही बरियारपुर डैम की मझगांय नहर परियोजना के मामले को भी उठाया। बरियारपुर डैम के पानी के उपयोग को लेकर मप्र और उप्र की सरकारी के बीच समझौता हुआ था। इसके तहत मझगांय नहर बनाने क लिए उक्त नहर के निर्माण के लिए एक किमी. क्षेत्र में नहर बनाने के लिए यूपी सरकार द्वारा अनुमति नहीं दी गई है। इससे नहर का काम रुका हुआ है। वे यूपी सरकार से मांग करते हैं कि वह नहर बनाने के लिए अनुमति प्रदान करे, जिससे 118 गांव के लोगों को पानी सिंचाई के लिए मिल सके।

MP/CG लाइव टीवी

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned