हीरा तस्करी के गिरोह का पन्ना पुलिस ने किया खुलासा, 35 हजार रुपए में बेच दिए थे अवैध खदान से मिले डायमंड

हीरा तस्करी के गिरोह का पन्ना पुलिस ने किया खुलासा, 35 हजार रुपए में बेच दिए थे अवैध खदान से मिले डायमंड
Panna Police disclosed of diamond smuggling gang

Suresh Kumar Mishra | Updated: 12 Oct 2019, 03:36:50 PM (IST) Panna, Panna, Madhya Pradesh, India

हीरा तस्करी: गिरोह का पता लगाने में जुटी पन्ना पुलिस, विभाग के सुपुर्द किया जब्त हीरा

पन्ना/ जिले के बृजपुर थाने की पुलिस ने हीरा तस्करी से जुड़े एक सनसनीखेज मामले का खुलासा किया है। पुलिस की इस कार्रवाई ने खनिज सचिव के उस वक्तव्य पर मोहर लगा दी, जिसमें उन्होंने हीरा खदानों से 80 फीसदी हीरों के स्मगलर होने की बात कही थी। हीरा के अवैध काले कारोबार के पीछे जिले व प्रदेश के बड़े-बड़े सफेदपोश लोगों के जुड़े होने की आशंका है। पुलिस हमेशा मैदानी स्तर के और छोटे स्तर पर काम करने वाले लोगों को ही पकड़ती रही है। उक्त कार्रवाई में पकड़े गए लोगों से यदि पुलिस ने सघनता से पूछताछ किया तो कई बड़े नाम सामने आ सकते हैं।

ये भी पढ़ें: खड़े ट्रक में जा घुसी थानेदार की जीप, SI की मौके पर मौत, NH-39 में हुआ भीषण सड़क हादसा

ये है मामला
जानकारी के अनुसार, कुछ दिनों पूर्व एसपी मयंक अवस्थी ने बृजपुर थाने का दौरा किया था। इस दौरान उन्हें कुछ लोगों ने बहुत की कम कीमत पर अवैध रूप से हीरे खरीदने की शिकायत की थी। उक्त शिकायत के आधार पर ही एसपी ने थाना प्रभारी राकेश तिवारी को कार्रवाई के लिए निर्देशित किया था। जिसके आधार पर उन्होंने एसडीओपी इसरास मंसूरी के निर्देशन में हीरे के अवैध कारोबार से जुड़े संदिग्ध लोगों पर नजर रखने के लिए मुखबिर सक्रिय कर दिए थे।

ये भी पढ़ें: प्रसव कक्ष से गायब थी महिला चिकित्सक, सर्जरी के बाद कोई झांकने नहीं जाता

खनन भी अवैध और बेचे भी अवैध रूप से
मुखबिर द्वारा पुलिस को सूचना दी गई कि ज्ञानी कोरी पिता स्वामीदीन निवासी बड़ी मडैय़न ने शासकीय नाला से अवैध रूप से खदान लगाए हुए था। जहां से उसे पांच नग हीरा मिले हैं। उक्त हीरों को उसने चोरी छपे जबेर खां पिता जफर मोहम्मद निवासी रानीगंज को बेच दिया है। जफर गांधी चौक पन्ना में घड़ी की दुकान किए है। उसने पांच नग हीरे महज 35 हजार 100 रुपए में खरीदे हैं। अवैध रूप से बेचे गए हीरों की राशि लेकर ज्ञानी कोरी पन्ना से बड़ी मडैय़न जा रहा था। तभी पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया। आरोपियों को न्यायालय में पेश किया गया, जहां से उन्हें जेल भेज दिया गया है।

हीरे सही पाए गए
जब्त हीरों को विभाग से परीक्षण कराया गया तो हीरे सही पाए गए हैं। पांचों हीरों का वजन 2 कैरेट 90 सेंट पाया गया। आरोपी से कोतवाली टीआई अरविंद कुजुर भी सघन पूछताछ कर जानकारी जुटाने का प्रयास किया। बताया कि बृजपुर में अधिकांश लोग हीरा खनन में लिप्त रहते हैं और कम दाम पर स्थानीय व्यापारियों को बेच देते हैं। ऐसे सभी अनाधिकृत व्यापारियों को चिह्नित करने के लिए व्यापक कार्य योजना बनाई जा रही है। जल्द ही उनके विरुद्ध कार्रवाई की जाएगी।

खनिज सचिव बोले थे
प्रदेश के खनिज सचिव नरेंद्र सिंह परमार ने 20 अगस्त को बंदर प्रोजेक्ट के हीरों स्मगलिंग से जुड़े सवाल पर कहा था कि मैं भी इसी क्षेत्र का हूं। यहां की हकीकत से अवगत हूं। दावा किया था पन्ना जिले की उथली हीरा खदानों से प्राप्त होने वाले 70 फीसदी हीरे चोरी होते हैं। लेकिन उनकी बात को न तो हीरा कार्यालय ने गंभीरता से लिया न ही जिला प्रशासन और पुलिस प्रशासन के अधिकारियों ने। उक्त कार्रवाई के बाद उनकी यह बात सच शाबित हो रही है। यदि सभी विभागों ने पूर्व में ही मामले को गंभीरता से लिया होता तो अब तक न जाने कितने कारोबारी सलाखों के पीछे होते।

हो चुकी हैं कार्रवाई
2018 में मदन सोनी पिता सुदर्शन प्रसाद (35) निवासी मुख्तारगंज सतना व बिनय शुक्ला पिता सुशील कुमार निवासी रैगांव सतना को हीरो की स्मगलिंग करते पकड़ा गया था। उनके पास से 29 नग बिना तरासे हीरे जब्त कए गए थे। इनका वजन तकरीबन 14 कैरेट 20 सेंट था। साथ ही 4 हीरे तरासे हुए जब्त किए गए थे, जो 4 कैरेट 25 सेट यानी 4 लाख 25 हजार रुपए के थे। जब्त 33 नग हीरों की कीमत 7 लाख 25 हजार 700 रुपए बताई थी।

ऐसे पकड़े गए दोनों आरोपी
सूचना पर थाना प्रभारी राकेश तिवारी ने वरिष्ट अधिकारियों को जानकारी देते हुए जागेन्द्र शर्मा, गिरधारी साह, पदम सिहं, पुनीता शर्मा, शिखा शक्ला और शेख हबीब को लेकर बिलखरा चौराहे पर रेड कार्यवाही करते हये ज्ञानी कोरी को पकड़ा। पूछताछ में उसने अवैध रूप से संचालित हीरा खदान से हीरे मिलने और उसे अवैध रूप से बेचने की बात कबूल कर ली। हीरा जुबेर खां को बेचना व 35000 रुपए प्राप्त करना बताया। पुलिस ने उक्त राशि को जब्त कर ज्ञानी कोरी की निशानदेही पर जबेर खां को पन्ना में हिरासत में लिया। पूछताछ में जुबेर ने गांधी चौक में घड़ी की दुकान में रखे हीरों को बरामद करा दिया। दोनो के पास खरीदने व खनन करने का लाईसेस नहीं होने पर धारा 379 ए,411 आईपीसी के तहत अपराध दर्जकर लिया गया।

बड़े नामों का हो सकता है खुलासा
पुलिस मानती है कि जिस घड़ी वाले को हीरे बेचे गए थे, वह खुद राष्ट्रीय व अंतरराष्टीय मार्केट तक हीरे नहीं पहुंचा सकता। ऐसे और कईलोग भी हो सकते हैं तो जिनके बारे में पुलिस को उम्मीद है कि वह मध्यस्तता का काम करते होंगे। यह जिन लोगों को हीरा बेचते य बाहर के मार्केट में कारोबार के लिए उपलब्ध कराते था पुलिस उन बड़े नामों को उगलवाने की फिराक में है। यही कारण है कि आरोपियों से कोतवाली पुलिस द्वारा भी पूछताछ की गई है। इसके साथ ही बृजपुर पुलिस भी हीरा कारोबार में लिप्त संदिग्ध लोगों पर नजर रखे हुए है। इससे उम्मीद की जा रही है कि आगामी दिनों हीरे के अवैध कारोबार में जुड़े कुछबड़े नामों का पुलिस खुलासा कर सकती है।

एसपी को शिकायत मिली थी। जिसके बाद अवैध कारोबार करने वालों की पहचान की जा रही थी। मुखबिर की सूचना पर सफलता मिली है। हीरे का अवैध कारोबार करने वाले लोगों पर इसी तरह की कार्रवाईआगामी दिनों में और भी हो सकती हैं।
राकेश तिवारी, थाना प्रभारी बृजपुर

Show More

MP/CG लाइव टीवी

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned