एसटी-एससी एक्ट के संशोधन के विरोध में बंद रहा पन्ना

एसटी-एससी एक्ट के संशोधन के विरोध में बंद रहा पन्ना

Rudra pratap singh | Publish: Sep, 06 2018 09:38:14 PM (IST) Panna, Madhya Pradesh, India

जिले भर में मिला-जुला असर देखने को मिलने के साथ, शहर के व्यापारी सुबह नगर के प्यापारियों ने बंद रखे प्रतिष्ठान। रैली निकालकर किया विरोध-प्रदर्शन, जिला प्रशासन को सौंपा ज्ञापन।

पन्ना. केंद्र सरकार द्वारा एसटीएससी एक्ट में किए गए संशोधन के विरोध में सपाक्स द्वारा आयोजित भारत बंद का पूरे पन्ना जिले में असर देखा गया। जिले के नगरीय निकायों और कस्बाई इलाकों में भी लोगों ने विरोध-प्रदर्शन कर रैलियां निकाली और विरोध में स्थानीय प्रशासन को ज्ञापन सौंपा। जिला मु यालय में विरोध प्रदर्शन कर रहे सभी लोग सुबह करीब ११ बजे नगर के गांधी चौक में एकत्रित हुए। इस अवसर पर करीब एक दर्जन वक्ताओं ने संशोधन के विरोध में अपनी बात रखी। इसके बाद रैली निकालकर ज्ञापन सौंपा।
बंद के समर्थन में सुबह करीब 10 फीसदी दुकानें बंद रहीं। कई व्यापारी दुकानें बंद करके विरोध प्रदर्शन में भी शामिल हुए। प्रदर्शनकारी सुबह 10.00 बजे से ही गांधी चौक में एकत्रित होने लगे थे। 11.00 बजे तक यहां सैकड़ों लोगों की भीड़ लग चुकी थी। यहां करीब आधे घंटे तक वक्ताओंने अपनी बात रखी। इसके बाद एक्ट के विरोध की त ितयों और बैनर के साथ गांधी चौक से रैली निकाली गई। यह कुमकुम टॉकीज, कटरा मार्केट, गणेश मार्केट, बलदेवजी मंदिर चौक, छोटा बाजार, बड़ा बाजार, अजयगढ़ चौक से होते हुए कलेक्ट्रेट पहुंची। यहां सैकड़ों की सं या में लोगों ने संशोधन के विरोध में नारे लगाए और अपनी मांग से संबंधित ज्ञापन जिला प्रशासन को सौंपा।

जनजीवन रहा प्रभावित
आंदोलन के कारण सुबह ग्रामीण क्षेत्रों से आए लोग परेशान हुए। सब्जी लेकर दूर दराज के गांवों से पहुंचे किसान फुटपाथ पर दुकानें लगाए ग्राहकों के आने का इंतजार करते रहे। आंदोलन के समर्थन में निजी स्कूलों के संचालकों ने शिक्षण संस्थान बंद रखे, जबकि सरकारी स्कूलें खुली हुई थीं। अधिकांश मार्केट भी दोपहर तक बंद रहा। दोपहर के बाद दुकानदारों ने दुकानें तो खोल जी थीं लेकिन खरीददार नहीं पहुंचे। जिससे वे इंतजार ही करते नजर आए। हालांकि कुछ व्यापारियों ने पूरे दिन दुकानें बंद रखीं। हलांकि पेट्रोल पंप खुले रहे और यात्री बसों का आवागमन नियमित रहा।

जिले भर में बंद के ऐसे रहे हालात -

पवई में भी रहा बंद, निकाली रैली

पवई. एससीएसटी में हुए संशोधन के विरोध में आयोजित भारत बंद का गुरुवार को पवई में भी असर देखने को मिला। सुबह 10 बजे से कुछ लोगों ने स्वेच्छा से अपने प्रतिष्ठानों को बंद किया , जबकि कहीं-कहीं युवाओं ने जाकर दुकानें बंद कराई। मिलोनीगंज ,करही तिराहा , बस स्टैंड, झण्डा बाजार, नगर के पेट्रोल प प में भी बंद का असर देखा गया। लोग पेट्रोल-डीजल के लिये घंटो परेशान रहे। टीआई डीडी आजाद पुलिस बल के साथ सुबह से ही चौकस रहे। बंद शान्ति पूर्वक रहा। इस अवसर पर आंदोलनकारियों ने विरोध-प्रदर्शन के साथ रैली निकालकर राष्ट्रपति के नाम एसडीएम को ज्ञापन सौपा । जिसमें प्रभाशंकर गर्ग, शैलेश नगायच, दिलीप पाठक, तरूण लटौरिया, शिवम गौतम, लोकेन्द्र सिंह, विवेक सक्सेना , पुष्पेन्द्र राजपूत, संदीप खरे, अभिषेक अग्रवाल सहित सैकडों युवा मोजूद रहे।

गुनौर में भी विरोध-प्रदर्शन
गुनौर. सांसोधन के विरोध में गुनौर में जमकर नारेबाजी हुई। बैनर पोस्टर लेकर के सामान्य तबके के लोगों ने नारेबजारी करते हुए रैली निकारी। व्यापारिक प्रतिष्ठान भी बंद कराए। यहां बंद का मिलाजुला असर रहा। कुछ दुकानदारों ने प्रदर्शनकारियों के कहने पर अपनी दुकानें बंद कर ली तो कुछ लोगों ने अपनी-अपनी दुकानों खुली रखीं। प्रशासन एवं पुलिस प्रशासन के चौकन्नी व्यवस्था के चलते किसी प्रकार की घटनाएं नहीं हुई।

ककरहटी रहा बंद, निकाली रैली
ककरहटी: एससी,एसटी एक्ट में केंद्र सरकार द्वारा किए गए संशोधन के विरोध में ककरहटी के सभी दुकानदारो एंव व्यापारिक संस्थानों के संचालकों ने स्वेच्छा से अपनी-अपनी दुकानें बंद रखी।े ग्रामीण क्षेत्र के सैकड़ो पिछड़ा वर्ग सहित सवर्णो ने सारे नगर मे आरक्षण व केन्द्र सरकार के खिलाफ नारेबाजी करते हुए रैली निकाली । सभी की एक ही आवाज थी कि सर्वोच्चय न्यायालय के अनुसार ही देश में एक्ट को लागू किया जाए। आरक्षण के खिलाफ सैकड़ो लोगों ने नगर मे विशालल रैली निकालने के बाद तहसीलदार को ज्ञापन सौंपा।

अमानगंज में भी रहा बंद
अमानगंज. केंद्र सरकार के संशोधन के विरोध में गुरुवार को बड़े हनुमानजी मंदिर से लेकर नगर में सवर्णों द्वारा तहसील तक रैली निकाली गई। बड़ी सं या में लोगो ने शासन के विरोध में नारेबाजी करते हुये तहसील तक पहुंचे। जिसमें सभी लोग हांथों में त ितयां लिये हुए थे। वही सर पर टोपी लगाये हुए थे। जिस पर ‘आ गये माई के लाल’ लिखा हुआ था। रैैली जाने के बाद तुरंत दुकाने खुल गयी।लोगों को आने जाने के लिये वाहनों की थोडी परेशानी रही। लेकिन कुछ समय बाद लोग अपने गंतव्य तक पहुचने के लिये बसों और प्राइवेट वाहनों द्वारा जाने लगे। ।रैली तहसील पहुचकर स्पाक्स द्वारा अपनी मांगों को लेकर ज्ञापन सौपा।

सेमरिया में भी रहा बंद का असर
सेमरिया. एसटीएससी एक्ट में केंद्र सरकार की ओर से किए गए संशोधन के खिलाफ सपाक्स द्वारा आयोजित भारत बंद का सेमरिया में भी खासा असर रहा। यहां ग्रामीणों ने एकत्रित होकर अपनी-अपनी दुकानें बंद रखी। विरोध-प्रदर्शन कर नारेबाजी की और रैली निकाली। इस अवसर पर अपनी मांगों से संबंधित ज्ञापन स्थानीय प्रशासन को सौंपा। लोगों ने इस अवसर पर अपनी-अपनी दुकानें भी बंद रखीं। इस अवसर पर बड़ी सं या में स्थानीय लोग भी मौजूद रहे।

MP/CG लाइव टीवी

Ad Block is Banned