शिकार की आशंका को लेकर पन्ना टाइगर रिजर्व ने जारी किया रेड अलर्ट, कर्मचारियों के अवकाश रद्द

टाइगर रिजर्व प्रबंधन को वन्य प्राणियों के शिकार की आशंका, पार्क के मैदानी अमले में हड़कंप

पन्ना. पन्ना टाइगर रिजर्व से लगे बफर जोन सहित दक्षिण वन मंडल में बीते दो माह से शिकार की कई वारदातें सामने आ चुकी हैं। कुछ मामलों में शिकारी भी पकड़े गए हैं। पन्ना टाइगर रिजर्व प्रबंधन को मकर संक्रांति पर्व के दौरान वन्य प्राणियों के शिकार होने की आशंका है। इसी को देखते हुए पार्क और इसके बाहरी क्षेत्रों में वन्य प्राणियों की सुरक्षा को मजबूत करने के लिए पन्ना टाइगर रिजर्व प्रबंधन की ओर से रेड अलर्ट जारी किया गया है। यह अलर्ट १६ जनवरी तक जारी रहेगा। अलर्ट के दौरान सभी कर्मचारियों के सभी अवकाश निरस्त कर दिए गए हैं। पार्क प्रबंधन के इस अलर्ट से पार्क और बफर क्षेत्र के मैदानी कर्मचारियों में हड़कंप मचा है।

16 जनवरी तक के लिए जारी किया गया अलर्ट
गौरतलब है कि जिले के दक्षिण वन मंडल के रेंज क्षेत्रों में बीते दो महीनों में तेंदुए सहित कई वन्य प्राणियों के शिकार के मामले सामने आए हैं। शाहनगर रेंज में ही कुछ दिनों पूर्व एक शिकारी बड़ी संख्या में हथगोलों के साथ पकड़ा गया था। एक दिन पूर्व ही एक नीलगाय का शिकार करने के बाद जंगल में ही उसे पकाकर खाने का भी मामला सामने आया था। बफर जोन और दक्षिण वन मंडल के जंगलों में लगातार शिकार की घटनाएं सामने आ रही हैं। सीमावर्ती क्षेत्र में आए दिन शिकार की वारदातें सामने आने से पार्क प्रबंधन का वन्य प्राणियों की सुरक्षा के लेकर चिंतित होना लाजमी है।

सघन गश्ती की जाए
प्रबंधन की ओर से कोर और बफर से रेंजरों को जारी अलर्ट आदेश में कहा गया है कि मकर संक्रांति के दौरान १३ से १६ जनवरी तक के लिए अलर्ट जारी किया गया है। पर्व के दौरान शिकार की किसी प्रकार की वारदात नहीं हो इसे देखते हुए पार्क और उसके बाहरी हिस्से की सघन गश्ती करें। इससे त्यौहार अवधि में शिकार की किसी भी प्रकार की वारदात को समय रहते रोका जा सके। गौरतलब है कि पन्ना टाइगर रिजर्व के कोर और बफर मिलकर सैकड़ों की संख्या में अधिकारी और कर्मचारी हैं। इनमें से कुछ लोगों ने त्यौहार परिवार के साथ मनाने का प्लान बनाया रहा होगा।

वाहन की चपेट में आने से सांभर के बच्चे की मौत
पन्ना-सतना मार्ग एनएच 39 पर बीती रात अज्ञात वाहन की चपेट में आने से सकरिया बहेरा के पास सांभर के बच्चे की मौत हो गई। सांभर की मौत किस वाहन की टक्कर से हुई इसका पता नहीं चल पाया है। मामले की जानकारी लगने के बाद उत्तर वन मंडल के पन्ना रेंजर शैलेंद्र पांडेय वन अमले के साथ मौके पर पहुंचे और मृत सांभर को उठाकर ले गये और पीएम के बाद उसका अंतिम संस्कार कर दिया गया।

Anil singh kushwah Desk
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned