पीडीएस का बड़ा घोटाला, जानिये कैसे आया पकड़ में

पीडीएस का बड़ा घोटाला, जानिये कैसे आया पकड़ में

Shashikant Mishra | Publish: Apr, 17 2019 02:07:04 PM (IST) | Updated: Apr, 17 2019 02:07:05 PM (IST) Panna, Panna, Madhya Pradesh, India

11 माह तक 25 गरीबों के हिस्से के आनाज की कालाबाजारी करता रहा सेल्समैन हटाया
वसूली के भी दिए निर्देश, उचित मूल्य की दुकान बरकोला का मामला

पन्ना. अजयगढ़ जनपद के ग्राम पंचायत बरकोला में पीडीएस का अनाज व अन्य सामग्री वितरण में बड़ा फर्जीवाड़ा पकड़ा गया है। यहां २५ लोगों के नाम बीपीएल सूची से कटे होने के बाद भी सेल्समैन उनके हिस्से के अनाज की करीब ११ महीनों तक कालाबाजारी करता रहा। एसडीएम की ओर से कराई गई जांच के बाद मामला पकड़ में आया तो सेल्समैन को हटा दिया गया है। इसके साथ ही उससे वसूली के निर्देश भी दिए गए हैं। उक्त कार्रवाई के बाद पीडीएस के अनाज की कालाबाजारी करने वाले सेल्समैनों में हड़कंप की स्थिति बन गई है।
जानकारी के अनुसार अजयगढ जनपद की ग्राम पंचायत बरकोला में सरंपच व पटवारी की अनुशंसा पर नायब तहसीलदार बीरा मंडल द्वारा 43 लोगों के नाम एक साथ बीपीएल सूची से काटे गए थे। एक ही ग्राम पंचायत के इतने अधिक लोगों के नाम काटे जाने से पूरे पंचायत के गरीबों में हाहाकार मच गई। जिन ४३ लोगों के नाम काटे गए थे उनमें से 25 लोगों ने एसडीएम अजयगढ़ के यहंा गरीबी रेखा सूची से नाम काटे जाने के फैसले के खिलाफ अपील की थी। जिस पर एसडीएम द्वारा प्रकरण क्रमांक 107/अपील/वर्ष 2017-18 राजस्व प्रकरण पर एसडीएम अजयगढ़ द्वारा सुनावाई की गई। एसडीएम अजयगढ द्वारा मामले में कराई गई जांच में 24 लोगों को पात्र पाए गए। जिनको एसडीएम आरुषी जैन ने अपने आदेश के द्वारा पात्र करते हुए बीपीएल मे नाम जोड़े जाने के लिये नायब तहसीलदार बीरा मंडल को निर्देशित किया गया ।


दूसरे हल्का के पटवारी से कराई जांच
मामल में जिन लोगों ने अपील की थी उनमें रामशिरोमणि रजक, हल्कू रजक, रजवा केवट, मंगला प्रजापति, रजुलिया, जमुना अहिरवार, हीरा प्रजापति, मुखिया प्रजापति, मृतक बब्बू बारसान, मृतक कुच्चा केवट, मुलवा, बाबा दीन, रज्जन केवट, रामप्रसाद, छिददी, दाउ, श्रीराम, रतन, इन्द्रपाल, अशोक, सीताराम, आदि शामिल थे। एसडीएम आरुषी जैन ने नायब तहसील कार्यालय बीरा मंडल के आदेश पर काटे गये नामों की जांच बरकोला पटवारी से नहीं करवाकर भैरहा हल्का के पटवारी से करवाई थी। इसी में २४ लोग पात्र पाए गए थे। एसडीएम द्वारा शासकीय उचित मूल्य दुकान बराकोला वितरण कार्य में पंचनामा, कथन, स्टाक पंजी ,पात्रता पंजी ,वितरण का प्रिन्ट सहित प्रतिवेदन मांगा गया। जिसमे पाया गया कि बरकोला उचित मूल्य की दुकान का सेल्समैन लखन लाल मिश्रा हितग्राहियो का पीओएस मशीन में फर्जी वितरण दर्ज कर माह जून 2018 से अप्रैल 2019 तक की सामग्री निकालकर कालाबाजारी कर ली। जिसमें कुल 83.82 क्विंटल गेहंू, 20.13 क्विंटल चावल, 2.53 क्विंट नमक, 176.00 लीटरकेरोसिन एवं 276 क्विंटल चना की कालाबाजारी किया जाना पाया गया । इससे एसडीएम द्वारा उचित मूल्य दुकान बरकोला के सेल्समैन को पद से प्रथृक कर दिया गया है। इसके साथ ही उक्त सामाग्री की राशि वसूलने के आदेश दिया। एसडीएम आरुषी जैन की इस कार्रवाई से फर्जीवाडा करने वाले सेल्समैनो में हडकंप की स्थिति बनी हुई है । एसडीएम ने बताया, गरीबों का हक डकारने वाले किसी भी सेल्समैन को बक्सा नहीं जाएगा।

MP/CG लाइव टीवी

खबरें और लेख पड़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते है । हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते है ।
OK
Ad Block is Banned