हत्यारे को गिरफ्तार करने की मांग को लेकर थाने में बवाल

हत्यारे को  गिरफ्तार करने की मांग को लेकर थाने में बवाल

Rudra pratap singh | Publish: Sep, 04 2018 10:49:57 PM (IST) Panna, Madhya Pradesh, India

पांच दिन पूर्व जिला मुख्यालय के बेनीसागर तालाब में मिला था शव, मीडिया के माध्यम से मिली जानकारी के आधार पर लापता युवक की तलाश में कोतवाली पहुंचे थे मृतक के परिजन

पन्ना/रैपुरा. जिले के रैपुरा थाना क्षेत्र निवासी एक युवक के हत्यारे को गिरफ्तार को गिरफ्तार की मांग को लेकर, मृतक के परिजनों ने थाने में जोरदार हंगाम मचा दिया। लोगों के हंगामें के बाद पुलिस ने मामले को गंभीरता से लेते हुए, मृतके के हत्या के संदेही को गिरफ्तार कर लिया। इसके प्रदर्शन कर लोग शांत हुए व मृतक के अंति संस्कार के लिए राजी हो गए।

यह है मामला
गौरतलब है कि पन्ना जिला मुख्यालय में स्थित बेनीसागर तालाब में दिनाकं 30 अगस्त की सुबह एक अज्ञात युवक का शव पाया गया था। जिसकी पहचान नहीं हो पाने के कारण पुलिस ने शव का पंचनाम करा के पीएम के लिए भेज दिया था। परिजनों को मामले की जानकारी सोशल मीडिया के माध्यम से लगने पर पन्ना कोतवाली आएं और मृत की पहचान किए। इसके बाद शव को अपने साथ लेकर रैपुरा रवाना हो गए।

मां ने बृजेश के साथ घर से निकला था
मृतक की मां ने बताया कि प्रकाश रैपुरा क्षेत्र में चाय पान की दुकान चला कर अपना परिवार चलाता है। मृतक की मां ने बताया कि बताया कि 28 अगस्त को सुबह बृजेश दहायत पिता शंभू दहायत जो कि शासकीय हाई स्कूल बधवार में कार्यरत है। उसके घर आया था। और प्रकाश को अपने साथ चलने के लिए बोला था। संदेही बृजेश दहायत ने जरुरी काम का बहाना अपने साथ मोटरसाइकिल में बैठा कर ले गया। कई दिनों तक प्रकाश घर नहीं पहुंचा व लगातार उसका फोन बंद जाने के कारण परिजनों के संदेही पर शक बढने लगा था। कई दिनों तक घर नहीं पहुंचने पर मृतक के परिजनों ने आस-पास व परिचय के रिस्तेदारी में बात किए मगर उसका कही पता नहीं चला।

पुलिस के आवेदन नहीं लेने पर किए बबाल
मामले में मृतक की हत्या के संदेही को गिरफ्तार करनेे की मांग को लेकर परिजन मगलवार की सुबह करीब 8.00 बजे रैपुरा थाने पहुंचे थे। परिजनों का आरोप है कि पुलिस ने न उनका आवेदन लिया न ही संदेही को गिरफ्तार करने के लिए तैयार हई। पुलिस के इस व्यवहार ग्रामीण व परिजन आक्रोशित होकर शव को थाने परिसर के बाहर रखकर प्रदर्शन कर हंगामा करना शुरु कर दिए। हंगामा मचने के बाद एसडीओपी पवई नें मामले को गंभीरता से लेते हुए परिजनों के कहने पर संदेही को गिरफ्तार कर लिया।

Ad Block is Banned