मान गए श्रीराम, सलमा भी करेगी आगे की पढ़ाई

मान गए श्रीराम, सलमा भी करेगी आगे की पढ़ाई
Salma will also do further studies

Bajrangi Rathore | Updated: 14 Jul 2019, 12:08:02 AM (IST) Panna, Panna, Madhya Pradesh, India

मान गए श्रीराम, सलमा भी करेगी आगे की पढ़ाई

पन्ना। मप्र के पन्ना जिला न्यायालय में आयोजित नेशनल लोक अदालत में इस बार 2009 प्रकरणों का निराकरण किया गया है। 4.51 लाख रुपए का अवार्ड पारित हुआ और 99 लोगों को इसका लाभ मिला। इसी प्रकार विभिन्न न्यायालयों में लंबित 858 प्रकरण लोक अदालत में रखे गए। इनमें 120 प्रकरणों का निराकरण आपसी सुलह से किया गया। इन प्रकरणों में 29 लाख 80 हजार 365 रुपए के अवार्ड पारित हुए, जिससे 192 व्यक्ति लाभान्वित हुए।

इस अवसर पर जिला न्यायाधीश एवं अध्यक्ष विधिक सेवा प्राधिकरण पीके अग्रवाल ने बताया कि लोक अदालतों का आयोजन निरंतर किया जा रहा है। इनसे बहुत सारे प्रकरण आपसी सुलह से निराकृत हो रहे हैं। नेशनल लोक अदालत में जलकर, बैंक वसूली, बीएसएनएल एवं अन्य प्री-लिटिगेशन के 89 मामलों का निराकरण किया गया। इनमें 4 लाख 51 हजार 344 रुपए का अवार्ड पारित किया गया।

परिवार परामर्श केंद्र में 10 प्रकरणों में राजीनामा

नेशनल लोक अदालत में परिवार परामर्श केंद्र की ओर से एक दर्जन प्रकरणों में राजीनामा कराया गया। एक प्रकरण में पति के नशे की हालत में मारपीट करने को लेकर पत्नी उससे दूर रहने लगी थी। अजयगढ़ की कुसुमबाई अहिरवार के शिकायत पर उसके परिवार के लोगों को बुलाया गया और नशा नहीं करने और मारपीट नहीं करने संबंधी समझाइश दी गई। समझाइश पर पति श्रीराम अहिरवार निवासी छतरपुर मारपीट नहीं करने पर राजी हो गया।

इस तरह से उनका मामला राजीनामा ने निपटाया गया। एक अन्य मामले में ससुराल वालों द्वारा दहेज के लिए प्रताडि़त करने और बहू को पढ़ाई नहीं करने देने के कारण विवाद था। मामले में बहू सलमा बेगम की शिकायत पर जबलपुर के उसके ससुराल वालों को बुलाया गया और दहेज के लिए प्रताडि़त नहीं करने और बहू को पढऩे देने के लिए समझाइश दी गई। इसके बाद ससुराल वाले उसे आगे पढऩे देने और दहेज के लिए प्रताडि़त नहीं करने की बात पर सहमत हो गए।

पवई में भी आयोजन

न्यायालय परिसर पवई में लोक अदालत का आयोजन किया गया। आरके.रावतकर अपर सत्र न्यायालय के 413 प्रकरणों में से 47 प्रकरणों का निराकरण किया गया। विद्युत के 46 प्रकरणों में 2,62,778 रुपए वसूले गए। इसी प्रकार आशीष कुमार केशरवानी व्यवहार न्यायाधीश वर्ग 1 के न्यायालय में कुल 55 प्रकरण लोक अदालत में निराकरण हेतु रखे गये। जिसमें से 02 प्रकरणों का निराकरण किया गया।

इसके अतिरिक्त नगर परिषद पवई द्वारा 37 प्रकरण रखे गये, जिसमें से 05 प्रकरणों का निराकरण किया गया। इनसे 12 हजार 400 रुपए टैक्स वसूल किया गया। इसी प्रकार प्रियंका सिंह बुंदेला व्यवहार न्यायाधीश वर्ग 2 पवई के न्यायालय में 40 प्रकरण रखे गये। जिसमें से 06 प्रकरणों का निराकरण किया गया।

MP/CG लाइव टीवी

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned