कन्या महाविद्यालय भवन के लिए जिला प्रशासन ने शुरू की जमीन की खोजबीन

राजस्व विभाग ने एलआईसी भवन के पास वाली जमीन का किया निरीक्षण
वहां कन्या महाविद्यालय भवन के लिए पर्याप्त नहीं स्थान

पन्ना. कन्या महाविद्यालय के नवीन भवन के लिए ग्राम सुनहरा में प्रस्तावित चार हेक्टेयर जमीन भवन निर्माण के लिय उपयुक्त नहीं है। इनकी जानकारी माह नवंबर में जिला प्रशासन को दी गई थी। पत्रिका द्वारा रविवार के अंक में उक्त खबर को प्रमुखता के प्रकाशित करने के बाद प्रशासन हरकत में आया और महाविद्यालय के नवीन भवन के लिए जिला प्रशासन ने शहर से लगी हुई जमीनों की तलाश शुरू कर दी है। जिसके तहत रविवार को तहसीलदार दीपा चतुर्वेदी के नेतृत्व में एलआईसी भवन के पास की जमीन की नापजोख की गई। हालांकि यह जमीन कॉलेज भवन निर्माण के लिए पर्याप्त नहीं पाई गई है।


गौरतलब है कि पन्ना में कन्या महाविद्यालय की स्थापना सन १९८८ में हुई थी। लेकिन आज तक इसके लिए नवीन भवन का निर्माण नहीं कराया जा सका है। कॉलेज भवन के निर्माण के लिए तत्कालीन कलेक्टर द्वारा वर्ष २००८ में ग्राम जनकपुर पटवारी हलका सुनहरा में ४ हेक्टेयर जमीन आवंटित की गई थी। उक्त जमीन जिला मुख्यालय से काफी दूर है। इससे यहां लड़कियों के लिए समुचित सुरक्षा उपलब्ध कराना काफी चुनौतीभरा काम होता। यही कारण है कि यहां अभी तक भवन का निर्माण कार्य स्वीकृत नहीं हो पाया था। इसी को लेकर बीते माह उच्च शिक्षा विभा के विशेष कर्तव्यस्थ अधिकारी डॉ. राकेश श्रीवास्तव और संस्था प्राचार्य डॉ. गिरिजेश शाक्य द्वारा संबंधित जमीन का अवलोकन किया गया था। इन दौरान आवंटित जमीन को नवीन कन्या महाविद्यालय भवन निर्माण के लिए उपयुक्त नहीं पाया गया।


जिला प्रशासन ने शुरू की जमीन की तलाश
विशेष कर्तव्यस्थ अधिकारी डॉ. राकेश श्रीवास्तव और संस्था प्राचार्य डॉ. गिरिजेश शाक्य द्वारा पूर्व आवंटित ग्राम सुनहरा की जमीन भवन निर्माण के लिए उपयुक्त नहीं होने की जानकारी मिलने के बाद प्रशासन ने अब कॉलेज भवन के लिए जमीन की तलाश शुरू कर दी है। बताया गया कि एलआईसी भवन के पास काफी जमीन पड़ी हुई है। यह शहर से लगी हुई होने के कारण सुरक्षा की दृष्टि से भी काफी उपयुक्त थी। इसी कारण से प्रशासन द्वारा रविवार को इसकी नापजोख कराई गई है। बताया गया कि नापजोख के बाद पाया गया कि नवीन कॉलेज भवन निर्माण के लिए जितनी जमीन की जरूरत है उतनी जमीन एलआईसी भवन के पास उपलब्ध नहीं है।


अन्य जगह तलाशी जा रही जमीन
बताया गया कि एलआईसी भवन के पास पर्याप्त जमीन उपलब्ध नहीं होने के कारण अब नगर से लगे अन्य स्थानों पर भी जमीन की तलाश की जा रही है। बताया जा रहा है कि जिला प्रशासन का राजस्व विभाग अब ग्राम माझा के पास और छतरपुर बाईपास रोड में स्थित आरटीओ कार्यालय के पास भी जमीन को देख रहा है। कॉलेज भवन भवन के लिए यहां भी जमीनों की नापजोख की जानी है। माझा पूर्व में ग्राम सुनहरा की तरह की शहर से दूर रहेगा। इससे आरटीओ कार्यालय के पास की जमीन कन्या महाविद्यालय के लिए उपयुक्त हो सकती है। यदि वहां पर पर्याप्त जमीन उपलब्ध हो तो वह कन्या महाविद्यालय के सुरक्षा की दृष्टि से भी उचित रहेगा।



एलआईसी के पास पड़ी सरकारी जमीन की नापजोख की गई है। वहां कॉलेज के लिए पर्याप्त जमीन उपलब्ध नहीं है। इससे शहर से लगे अन्य स्थानों पर भी जमीन की तलाश की जा रही है।
दीपा चतुर्वेदी, तहसीलदार पन्ना

Shashikant mishra Bureau Incharge
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned