अब बाघों पर रहेगी पैनी नजर, हर मूवमेंट की मिलेगी सटीक खबर

पन्ना टाइगर रिजर्व में बाघों पर होगा शोध अध्ययन, जीपीएस कॉलर के माध्यम से बाघों पर रखी जाएगी पैनी नजर..

By: Shailendra Sharma

Published: 16 Dec 2020, 05:20 PM IST

पन्ना. अब जंगल के राजा वनराज यानि बाघ पर हर वक्त नजर रखी जाएगी। बाघ के मूवमेंट से लेकर उसके रहन सहन और दिनचर्या की सटीक जानकारी जुटाकर उसपर रिसर्च की जाएगी और ये सब संभव होगा रेडियो जीपीएस कॉलर की मदद से। केंद्र सरकार ने 14 बाघों को ऑटो सेटेलाइट ऑटो रेडियो कॉलर पहनाने की अनुमति दे दी है।

युवा बाघिन पर पहला प्रयोग
केन्द्र सरकार से अनुमति मिलने के बाद पहला प्रयोग पन्ना टाइगर रिजर्व प्रबंधन में युवा बाघिन पी 213(63) को सफलतापूर्वक रेडियो कॉलर पहनाकर किया गया। इसी प्रकार से पन्ना टाइगर रिजर्व के 13 और बाघों पर यह अभिनव प्रयोग किया जाएगा। ये शायद देश में पहली बार है जब किसी टाइगर रिजर्व में इस तरह का अभिनव प्रयोग किया जा रहा है। पन्ना टाइगर रिजर्व के फील्ड डायरेक्टर उत्तम शर्मा ने बताया कि इस परियोजना के तहत अध्ययन के लिए केंद्र ने 14 बाघों को कॉलर करने की अनुमति दी है। नये कॉलर वाले बाघों में 8 से कोर और बफर जोन से, जबकि 6 बाघ पन्ना लेंडस्केप के होंगे।

देखें वीडियो-

 

ऑटो सेटेलाइट रेडियो कॉलर आईडी के फायदे
बता दें कि पहले लगाई जाने वाली रेडियो कॉलर आईडी से बाघ की लोकेशन ट्रेस करने के लिए सिग्नल रिसीविंग एंटीना लेकर फील्ड में दौड़ना पड़ता था । लेकिन ऑटो ड्राप मूड वाले इस रेडियो कॉलर की मदद से जब चाहे बाघों को बगैर ट्रेंक्लाइज किये ही गिरा दिया जाएगा । बाघ का मूवमेंट मानव बस्ती के आसपास होने पर अलर्ट मिलेगा। इस जीपीएस सेटेलाइट रेडियो कॉलर के माध्यम से देश में पहली बार पन्ना टाइगर रिजर्व में बाघों पर अब शोध अध्ययन भी किया जाएगा। साल 2008-09 में जब यहां पर बाघों की पुनर्स्थापना योजना चल रही थी तब रेडियो कॉलर का प्रयोग बाघों की सुरक्षा निगरानी के लिए ही किया जाता था । लेकिन अब पन्ना पन्ना टाइगर रिजर्व में बाघों की संख्या 63 से ज्यादा है । इसलिए बाघों की सुरक्षा के साथ साथ अध्ययन में बाघों के बायोलॉजी बेहिबियर,मूमेंट,की जानकारी उपलब्ध होगी और बाघों पर अध्ययन करने में भी खासी मदद मिलेगी।

Show More
Shailendra Sharma
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned