जिला अस्पताल के दो दर्जन से अधिक सफाईकर्मी हड़ताल पर, व्यवस्था बिगड़ी

वेतन भुगतान न होने से नाराजगी

पन्ना. तीन माह से मानदेय न मिलने व पूर्व में हुए समझौते की शर्तों को आश् वासन देने के बाद भी अस्पताल प्रशासन के नहीं मानने को लेकर यहां तैनात दो दर्जन से अधिक सफाईकर्मी शुक्रवार से हड़ताल पर चले गए हैं। इससे हालात यह हो गईकि दोपहर दो बजे तक ही वार्डों में रखीं डस्टबिन उफना गईं तो कोनों को ही डस्टबिन बना लिया गया। इसके साथ ही पूरे वार्डों में कचर बिखरा हुआ था।

सफाईकर्मियों ने बताया कि उन्हें रोगी कल्याण समिति की ओर से काम पर रखा गया है। जहां से उनके मानदेय का भुगतान किया जाता है। बताया गया कि फिलहाल अस्पताल प्रशासन द्वारा उन्हें तीन माह से मानदेय का भुगतान नहीं किया गया है। इससे उनको परिवार चलाना मुश्किल पड़ रहा है। इसक ेअलावा सफाईकर्मियों की ओर से बीते माह भी हड़ताल की गईथी। जिसमें १० अक्टूबर को अस्पताल प्रबंधन द्वारा लिखित में १५ दिन के अंदर उनकी मांगे माने जाने का आश्वासन दिया गया था। इसके बाद भी एक भी मांग को पूरा नहीं किया गया। इसके विरोध में वे सूचना देने के बाद शुक्रवार से हड़ताल पर चले गए हैं।


प्राइवेटवार्ड में मवेशी
सफाईकर्मियों के साथ अस्पताल के सुरक्षा गार्ड भी हड़ताल में थे। दोपहर २ बजे पुरानी बिल्डिंग में संचालित प्राइवेट वार्ड के कमरा नंबर दो पर मवेशी घुसा हुआ था। यह काफी समय तक वार्ड में ही घुसा रहा। उसे निकालने वाला तक कोईनहीं था। अस्पताल के मेल मेडिकल वार्ड और जी वार्ड की हालत सबसे ज्यादा खराब थी। इनमें डस्टबिन में जितना कचरा भरा हुआ था उससे ज्यादा आसपास बिखरा था। ऐसे ही हालात फीमेल मेडिकल वार्ड के थे। यहां भी डस्टबिन से ज्यादा कचरा उसके कोने पर लगा हुआ था।

Sonelal kushwaha
और पढ़े

MP/CG लाइव टीवी

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned