Bihar news: मैट्रिक की कॉपियां नहीं जांचने वाले 674 शिक्षक निलंबित किया

मैट्रिक कॉपी जांच नहीं करने वाले हाईस्कूल के 674 शिक्षकों को निलंबित कर दिया गया है। साथ ही परीक्षा अधिनियम की धाराओं का उल्लंघन का करने के आरोप में उनके खिलाफ बांका थाना में केस दर्ज कराया गया है।

By: Navneet Sharma

Published: 19 Mar 2020, 08:03 PM IST

बांका. मैट्रिक कॉपी जांच नहीं करने वाले हाईस्कूल के 674 शिक्षकों को निलंबित कर दिया गया है। साथ ही परीक्षा अधिनियम की धाराओं का उल्लंघन का करने के आरोप में उनके खिलाफ बांका थाना में केस दर्ज कराया गया है। बिहार बोर्ड ने जिला में 877 माध्यमिक शिक्षकों को मैट्रिक कॉपी जांच के लिए तीन केंद्रों पर ड्यूटी दी गई थी। उन्हें पांच मार्च को ही केंद्र पर योगदान करना था, ताकि छह मार्च से मैट्रिक कॉपी जांच का काम तेजी से पूरा किया जा सके। लेकिन इसमें 674 लोग बार-बार चेतावनी के बाद भी केंद्र पर कॉपी जांच करने नहीं पहुंचे। जिससे मैट्रिक कॉपी का जांच फंसा हुआ है। 10 दिन बाद भी मैट्रिक की अधिकांश कॉपियां जांच के लिए रखी हुई है।

डीईओ अहसन ने बताया कि बोर्ड ने मैट्रिक कॉपी जांच के लिए माध्यमिक शिक्षकों को नियुक्ति पत्र जारी किया था। इसमें अधिकांश शिक्षक हड़ताल पर चले गए और कॉपी जांचने नहीं आए। विभागीय अपर सचिव के पत्र के आलोक में योगदान नहीं करने वाले 674 माध्यमिक शिक्षकों को जिला परिषद, नगर परिषद और नगर पंचायत के माध्यम से निलंबित कर दिया गया था। साथ ही बांका थाना में केस दर्ज करने के लिए आवेदन दिया गया है। जिन शिक्षकों पर केस दर्ज कर निलंबित किया गया है, उसमें हाईस्कूल के पांच दर्जन प्रधानाध्यापक भी शामिल हैं। जानकारों के मुताबिक बांका में शिक्षकों के खिलाफ इतनी बड़ी कार्रवाई पहली बार हुई है।

एक साथ इतनी संख्या में शिक्षकों का निलंबन और कार्रवाई पहले कभी नहीं हुई थी। इसके पूर्व 29 फरवरी को इंटर कॉपी जांच में योगदान नहीं करने पर प्रशासनिक स्तर से 191 इंटर शिक्षक के खिलाफ केस दर्ज किया गया है। इसमें 136 इंटर शिक्षक को प्रशासन ने पहले ही निलंबित भी कर दिया है। इस प्रकार के जिला माध्यमिक विद्यालयों में तैनात एक हजार शिक्षकों ने आठ सौ से अधिक के खिलाफ निलंबन और एफआईआर की कार्रवाई हो चुकी है।

Navneet Sharma Desk
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned