एसटीएफ ने दबोचा: पत्नी-बच्चों संग तीन माह से किराएदार बनकर रह रहा था आतंकी

एसटीएफ ने दबोचा: पत्नी-बच्चों संग तीन माह से किराएदार बनकर रह रहा था आतंकी
terrorist-arrested

Satyendra Porwal | Updated: 28 Aug 2019, 12:04:15 AM (IST) Patna, Patna, Bihar, India

बंगाल के वीरभूम जिले के पारुई इलाके का रहने वाला है। गया के मानपुर की पठानटोली से बांग्लादेश का आतंकी मो.एजाज अहमद गिरफ्तार।

(गया.पटना). कभी नाम, कभी वेष तो कभी जगह बदलकर रहने वाला आतंकी शातिर था लेकिन पुलिस उसकी हर चाल को पीछा करते हुए उस मुकाम तक पहुंच ही गई । बंंगाल से बिहार जाकर ठिकाना बनाने वाला आतंकी एजाज अहमद बार-बार अपना नाम व काम भी बदल लेता था। इन दिनों वह कपड़ों की फेरी लगाने का काम दिखावे के लिए कर रहा था, आखिर पुलिस ने उसे दबोच लिया।
जानकारी के अनुसार बिहार में गया के मानपुर इलाके में बुनियादगंज थाना अंतर्गत पठान टोली मोहल्ले में तीन माह से किराए पर परिवार संग रह रहे बांग्लादेशी आतंकी संगठन जमायत-अल-मुजाहिद्दीन ( JAMAYAT AL MUZAHIDDIN) के आतंकी मोहम्मद एजाज अहमद उर्फ तौसिफ रजा उर्फ जीतू उर्फ मोती अहमद को कोलकाता पुलिस ने गिरफ्तार कर सीजेएम कोर्ट में पेश किया। कोलकाता पुलिस कोर्ट के आदेश पर उसे रिमांड पर ले गई। एजाज अहमद पश्चिम बंगाल के वीरभूम जिले के पारुई इलाके का रहने वाला है। उसे बांग्लादेश के जमात-उल-मुजाहिद्दीन की ओर से गया में युवाओं को जोडऩे की जिम्मेदारी दी गई थी।

कई आतंकी गतिविधियों में शामिल होने के मिले सबूत
कोलकाता स्पेशल टास्क फोर्स ( SPECIAL TASK FORCE) को गुप्त सूचना मिली थी कि एजाज पठानटोली में परिवार के साथ रह रहा है। एसटीएफ ( STF) टीम दो दिन पूर्व ही दलबल समेत यहां आ गई थी। एजाज अहमद के पास कई आतंकी गतिविधियों में शामिल होने के सबूत मिले हैं। वह 2007 से ही संगठन के लिए काम कर रहा था। उसके पास से कई दस्तावेज भी बरामद किए गए हैं। इसके तार पाकिस्तान से भी जुड़े होने की बात सामने आई है। उसके ठिकाने से लैपटाप, मोबाइल और जेहादी दस्तावेज बरामद हुए है। कोलकाता एसटीएफ टीम को इसकी तलाश पिछले कई महीने से थी, किन्तु शातिर एजाज ने चकमा देकर गया में ठिकाना बना लिया था।

अन्य साथियों की भी एसटीएफ को तलाश
गौरतलब है कि एजाज के अन्य साथियों को भी एसटीएफ तलाश रही है। इनमें आशिफ इकबाल,राहुल असीम, सज्जाद अली, कादर काजी, असीफ इस्लाम व इलाज अहमद शामिल हैं।

आतंकी संगठनों के निशाने पर गया-बोधगया
महत्वपूर्ण बात यह है कि गया और बोधगया अन्तरराष्ट्रीय आतंकी संगठनों के निशाने पर है। बोधगया महाबोधि मंदिर में सीरियल ब्लास्ट कर पूर्व में आतंकी इस इरादे को स्पष्ट कर चुके हैं। दो वर्ष पूर्व साइबर कैफे की सूचना पर अहमदाबाद ब्लास्ट का मास्टरमाइंड तौशीफ खान उर्फ अतीक खान पुलिस के हत्थे चढ़ चुका है।

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned