तेजस्वी की चौपाल में पूछा गया, बिहार कैसे बनेगा टॉप राज्य

राष्ट्रीय जनता दल के युवा नेता तेजस्वी यादव सोशल मीडिया का महत्व बखूबी जानते हैं, वे सोशल मीडिया पर बिहार के सबसे सक्रिय युवा नेताओं में से एक हैं।

By:

Published: 19 Jan 2019, 08:01 PM IST

पटना। बिहार विधानसभा में नेता प्रतिपक्ष तेजस्वी यादव सबका ध्यान खींचने लगे हैं। ट्विटर पर तेजस्वी की चौपाल काफी पसंद की जा रही है। इस टैग ने शुरू होते ही बिहार में रिकॉर्ड बना दिया है। ट्विटर पर उनके 10.46 लाख से ज्यादा फॉलोवर हैं, जैसे-जैसे उनके फॉलोवर बढ़ रहे हैं, मुख्यमंत्री नीतीश कुमार और नरेन्द्र मोदी पर हमले तीखे होते जा रहे हैं।
बिहार के पूर्व उपमुख्यमंत्री तेजस्वी यादव ने स्वयं आगे बढक़र प्रश्नों को आमंत्रित किया। उनसे लोगों ने सवाल भी तरह-तरह के पूछे। एक ने पूछा कि आप बिहार से पलायन कैसे रोकेंगे, तो दूसरे ने पूछा, मुख्यमंत्री के रूप में आपका एजेंडा क्या होगा, तो तीसरे ने पूछा कि बच्चियों की सुरक्षा के लिए आप क्या करेंगे? ऐसे ही अनेक सवाल तेजस्वी यादव से लोगों ने पूछे और इन सवालों को तेजस्वी ने जवाब भी अच्छी तरह से दिया। यह भी सवाल पूछा गया कि आप बिहार को देश के टॉप 10 राज्यों में लाने के लिए क्या करेंगे। 17 जनवरी को तेजस्वी की चौपाल हर लिहाज से सफल हुई है। तेजस्वी यादव होमवर्क करके चलने वाले नेता हैं। उन्हें पता है कि कब बोलना है और कब चुप रहना है। इस मामले में उनकी लोकप्रियता सोशल मीडिया पर तेजी से बढ़ रही है और लोगों से उनका जुड़ाव लगातार बढ़ता जा रहा है।

'करेके बा, लड़ेके बा, जितेके बा'
तेजस्वी ने यह नया ऑन लाइन मोर्चा खोल लिया है। नीतीश कुमार के विरुद्ध उनके हमले सधे हुए हैं, संतुलित भाषा में वे टिप्पणियां कर रहे हैं। 19 जनवरी को कोलकाता की रैली के बारे में उन्होंने ट्विट किया कि ‘बंगाल में कहते हैं 'करबो लड़बो जीतबो रे' और बिहार में 'करेके बा, लड़ेके बा, जितेके बा' इसी जज्बे की बदौलत केन्द्र की तानाशाह सरकार को उखाड़ फेंकना है। मोदी जी की राजनीति दिखावटी,बनावटी,मिलावटी और सजावटी है। इनसे बच के रहने की जरूरत है।’

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned