बिहार में नदियां उफान पर, कई बांधों पर मंडराया टूटने का खतरा

बिहार में नदियां उफान पर, कई बांधों पर मंडराया टूटने का खतरा

Brijesh Singh | Updated: 14 Jul 2019, 06:08:03 PM (IST) Patna, Patna, Bihar, India

Bihar Flood: बिहार की नदियां लगातार बारिश से उफान पर हैं। इससे बाढ़ का खतरा मंडराने लगा है। कई बांधों पर टूटने का खतरा मंडरा रहा है।

( पटना, प्रियरंजन भारती )। नेपाल ( Nepal ) के जलग्रहण क्षेत्रों और सटे पड़ोसी कोसी क्षेत्र ( Kosi ) में लगातार बारिश से बाढ़ का खतरा ( Flood In Bihar ) बढ़ गया है। बाढ़ का पानी कई गांवों में घुस जाने से अफरातफरी में लोग जान बचाकर सुरक्षित ठिकानों की तलाश में भागने लगे हैं। कोसी नदी ( kosi river ) में पानी बढ़ने के साथ ही कोसी बैराज के सभी 56 फाटक खोल दिए गए हैं। इसके साथ ही कई इलाकों में पानी घुस जाने से अफरातफरी मच गई और लोग सुरक्षित ठिकानों के लिए पलायन करने लगे हैं।


शनिवार देर रात तक कोसी में चार लाख क्यूसेक पानी निकासी की गई। यह डिस्चार्ज अपना ही रिकॉर्ड तोड़ गया। इससे पहले 2004 में पानी डिस्चार्ज इस सीमा तक पहुंचा था। बैराज के सभी फाटक खोल दिए जाने से बसंतपुर, सुपौल, सरायगढ़, भपटियाही किसनपुर, मरौना और निर्मली प्रखंड के दर्जनों गांवों में पानी भर गया। सिकरहना मझारी लो बांध के 6.40 और 9.40 बिंदुओं पर दबाव बढ़ जाने से तटबंध टूटने के खतरे बढ़ गए।किसनपुर प्रखंड के नौआबाखर में बांध टूट जाने से कई गांव जलमग्न हो गए। लोगों में 2008 की प्रलयंकारी बाढ़ की आशंका गहराने लग गई। तब कोसी की बाढ़ में हजारों लोग बह गए थे और 23 लाख से अधिक आबादी प्रभावित हुई थी।

 

कोसी की विभीषिका के मारों को आज भी पुनर्वासित करने के सरकारी वादे पूरे नहीं हो पाए हैं। कोसी के साथ पूर्णिया और मधेपुरा की नदियां भी उफान मारने लग गईं हैं। महानंदा, बकरा, कनकई आदि नदियां भी खतरे को पार कर गईं। मधेपुरा के आलमनगर और कुमारखंड प्रखंडों के गांवों में सुरसर तथा कोसी की सहायक नदियों का पानी भर गया। सहरसा के नवहट्टा, महिषी और सलखुआ के गांवों में पानी भर गया।इससे लोगों में सुरक्षित स्थानों पर पहुंचने की होड़ लग गई। राज्य सरकार ने प्रभावित इलाकों में एनडीआरएफ और एसडीआरएफ के जवानों को तैनात कर लोगों के राहत और बचाव कार्यों में उतार दिया है। मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ( CM NITISH KUMAR ) ने कहा सरकार लोगों की हिफाजत में हरसंभव मदद को जुटी रहेगी।

 

बिहार की ताजातरीन खबरों के लिए यहां क्लिक करें...

यह भी पढ़ें...किऊल नदी में ओवरलोड नाव डूबी, पांच लापता, दो शव बरामद

 

Show More
खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned