आरएलएसपी को छोड़ तेजस्वी ने की महागठबंधन के उम्मीदवारों की घोषणा, यहां देखे कौनसी सीट पर कौन ठोक रहा है ताल

आरएलएसपी को छोड़ तेजस्वी ने की महागठबंधन के उम्मीदवारों की घोषणा, यहां देखे कौनसी सीट पर कौन ठोक रहा है ताल
tejashwi yadav

Prateek Saini | Publish: Mar, 29 2019 02:48:18 PM (IST) Patna, Patna, Bihar, India

विशेष संवाददाता प्रियरंजन भारती की रिपोर्ट...

 

(पटना): बेहद जद्दोजहद के बाद तेजस्वी यादव ने महागठबंधन के उम्मीदवारों की घोषणा यहां डेढ़ घंटे विलंब से शुरु हुई साझा प्रेस कांफ्रेंस में कर दी। प्रेस कांफ्रेंस से रालोसपा नेताओं ने दूरी बनाए रखी। माना जा रहा है कि काराकाट और पश्चिमी चंपारण सीट कांग्रेस के लिए छोड़ने के दबाव पर उपेंद्र कुशवाहा की ठन गई है और वे किसी कीमत पर ऐसा करने को राजी नहीं हैं। तेजस्वी यादव की प्रेस कांफ्रेंस डेढ़ घंटों बाद साढ़े ग्यारह बजे शुरु हुई तो उन्होंने महागठबंधन की एकता पर बल तो दिया पर रालोसपा का कोई प्रतिनिधि नहीं मौजूद होने से दावे की कलई वहीं खुल गई। वह मांझी और कांग्रेसी नरेंद्र सिंह के साथ पहुंचे थे।

 

आरजेडी ने उन्नीस सीटों की घोषणा

महागठबंधन के सीट बंटवारे के अनुसार आरजेडी को 20, कांग्रेस को 9, रालोसपा को 5, हम को 3 और मुकेश सहनी की वीआईपी को 3 सीटें दी गई हैं। आरजेडी ने 19 सीटों के उम्मीदवार घोषित किए और एक आरा की सीट भाकपा माले को दी है। आरजेडी की सूची में इन्हें मिली है जगह:—

वैशाली से रघुवंश प्रसाद सिंह
गोपालगंज से सुरेंद्र राम
भागलपुर सबुलो मंडल
बांका से जयप्रकाश यादव
मधेपुरा से शरद यादव
दरभंगा से अब्दुल बारी सिद्दीकी
सीवान से हिना शहाब
महाराजगंज से रणधीर सिंह
सारण से चंद्रिका राय
हाजीपुर सेशिवचंद्र राम
पाटलिपुत्र से मीसा भारती
बक्सर से जगदानंद सिंह
जहानाबाद से सुरेंद्र यादव
नवादा से विभा देवी
झंझारपुर से गुलाब यादव
अररिया से सरफराज आलम
और सीतामढ़ी से अर्जुन राम को उम्मीदवार बनाया है।

शिवहर सीट संभवतः तेजप्रताप यादव के पसंदीदा उम्मीदवार के लिए रखी गई है। इसके उम्मीदवार की घोषणा बाकी है। बता दें कि सीवान से शहाबुद्दीन की पत्नी और नवादा से रेप के आरोपी राजवल्लभ यादव की पत्नी को उम्मीदवार बनाया गया है।

मुकेश सहनी की वीआईपी के लिए मधुबनी, मुजफ्फरपुर और खगड़िया सीट दी गई। खगड़िया से मुकेश सहनी खुद चुनाव लड़ेंगे जबकि मधुबनी से कांग्रेस के शकील अहमद के लिए छोड़ने का दबाव है। सूत्रों के अनुसार सहनी किसी भाजपा नेता को यह सीट देने के लिए सौदेबाजी कर रहे बताए जाते हैं जिससे परोक्षतः कांग्रेस ने दबाव बढ़ा दिया। मांझी के लिए गया, औरंगाबाद और नालंदा सीटें दी गई हैं। मांझी स्वयं गया से उम्मीदवार हैं जबकि औरंगाबाद से उपेंद्र प्रसाद और नीतीश कुमार के गृहक्षेत्र नालंदा से अशोक चंद्रवंशी को उम्मीदवार बनाया है।


इधर रालोसपा के नेता उपेंद्र कुशवाहा नाराज़ चल रहे हैं। इन पर काराकाट और पश्चिमी चंपारण छोड़ने का दबाव है। आरजेडी कांग्रेस के कीर्ति आजाद के लिए बेतिया और कांग्रेस के कार्यकारी अध्यक्ष कौकब कादरी के लिए काराकाट सीट छोड़ने का दबाव दे रही है। बदले में उजियारपुर सीट देने का प्रस्ताव है पर वह हत्थे उखड़ गए और वाम दलों से तालमेल की संभावनाएं तलाशने लगे बताए जा रहे हैं।

कांग्रेस ने सात नाम घोषित किए


कांग्रेस ने हिस्से की नौ में से पटना साहिब और बाल्मिकीनगर छोड़ अन्य सात सीटों पर उम्मीदवार घोषित किए। पटना साहिब से शत्रुघ्न सिन्हा और बाल्मिकीनगर सीट से कीर्ति आजाद की घोषणा बाद में हो सकती है। बाल्मिकीनगर की बजाय कांग्रेस बेतिया(प.चंपारण)पर जोर दे रही है। यह सीट यदि रालोसपा से मिली तो ठीक है वरना आजाद यहां से उम्मीदवार हो सकते हैं।कीर्ति आजाद की दरभंगा सीट से आरजेडी के अब्दुल बारी सिद्दीकी मैदान में उतर रहे हैं। कांग्रेस ने मुंगेर से बाहुबली अनंत सिंह की पत्नी नीलम देवी को उम्मीदवार बनाया है।

कांग्रेस ने सुपौल से रंजीता रंजन
सासाराम से मीरा कुमार
मुंगेर से नीलम देवी
किशनगंज से मो.जावेद
कटिहार से तारिक अनवर
पूर्णिया से उदय सिंह तथा
समस्तीपुर से अशोक रंजन को उम्मीदवार घोषित किया है।

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned