पं. झाबरमल्ल शर्मा व्याख्यान एवं सम्मान समारोह में बिहार के युवा कवि शंकरानंद को मिला द्वितीय पुरस्कार

पं. झाबरमल्ल शर्मा व्याख्यान एवं सम्मान समारोह में बिहार के युवा कवि शंकरानंद को मिला द्वितीय पुरस्कार

Prateek Saini | Publish: Jan, 04 2019 09:56:46 PM (IST) Patna, Patna, Bihar, India

शंकरानंद के दो काव्य संग्रह प्रकाशित हो चुके हैं...

 

(पटना): राजस्थान की राजधानी जयपुर में शुक्रवार को राजस्थान पत्रिका की ओर से पं. झाबरमल्ल शर्मा व्याख्यान एवं सम्मान समारोह का आयोजन हुआ। बिहार के युवा कवि शंकरानंद ने कविता का दूसरा पुरस्कार प्राप्त किया। शंकरानंद बिहार के खगडिय़ा जिले के रहने वाले हैं। उनकी कविताएं देश की विभिन्न पत्र-पत्रिकाओं में प्रकाशित होती रहती हैं। उनके दो काव्य संग्रह प्रकाशित हो चुके हैं।


अध्यापन से जुड़े शंकरानंद की कविताएं उम्मीद की किरण दिखाती हैं। दूसरे पुरस्कार के रूप में चयनित उनकी कविता 'इंतजारÓ उन अंधेरों की बात करती है जिसने जीवन को लगभग घेर लिया है। यह वर्तमान जीवन के भविष्य के प्रति गहरी आस्था की कविता है जहां इंतजार करने वाली आंखें जानती हैं कि लौटने का कोई मौसम नहीं होता। इसलिए यह तय है कि चीजें बदलेंगी। आज का समय भले ही उदास और विचलित करने वाला है, पर ये स्थायी नहीं है। इस समारोह में उत्कृष्ट साहित्य व कविता लेखन के लिए कुल चार लोगों को सम्मानित कर पुरस्कार प्रदान किए गए। कविता में पहला पुरस्कार जोधपुर के विनोद विट्ठल की कविता 'सीख' को मिला और दूसरा पुरस्कार शंकरानंद ने अपने नाम किया।

खबरें और लेख पड़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते है । हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते है ।
OK
Ad Block is Banned