बिहार में क्वारेंटाइन केंद्रों की बदहाली में जुड़ा काला अध्याय, मरीज ने की खुदकुशी

(Bihar News ) बिहार में क्वारेंटाइन केंद्रों की ( Mismanagement in quarantine centres ) बदहाली में एक ओर काला अध्याय जुड़ गया। क्वारेंटाइन में रखे गए एक प्रवासी श्रमिक ने फांसी लगाकर ( Corona patient commit sucide ) आत्महत्या कर ली। इससे पहले भी क्वारेंटाइन केन्द्रों को लेकर भर्ती कोरोना के संदिग्ध मरीज में कई बार हंगामा खड़ा कर चुके हैं।

By: Yogendra Yogi

Updated: 21 May 2020, 08:29 PM IST

मुजफ्फरपुर/पटना(बिहार)प्रियरंजन भारती: (Bihar News ) बिहार में क्वारेंटाइन केंद्रों की ( Mismanagement in quarantine centres ) बदहाली में एक ओर काला अध्याय जुड़ गया। क्वारेंटाइन में रखे गए एक प्रवासी श्रमिक ने फांसी लगाकर ( Corona patient commit sucide ) आत्महत्या कर ली। इससे पहले भी क्वारेंटाइन केन्द्रों को लेकर भर्ती कोरोना के संदिग्ध मरीज में कई बार हंगामा खड़ा कर चुके हैं। हालात यह हैं कि सरकार के पास दूसरे राज्यों से लौटने वाले श्रमिकों के लिए क्वारेंटाइन के पर्याप्त इंतजाम नहीं तक नहीं हैं। लाखों श्रमिक बिहार लौट चुके हैं और लाखों की ही कतार में हैं। इन श्रमिकों सभी श्रमिकों के स्वास्थ्य की जांच तक की व्यवस्था नहीं हो सकी। इससे प्रदेश में कोरोना संक्रमितों की संख्या भी तेजी बढ़ रही है।

1872 हुए संक्रमित
बिहार में मजदूरों के जारी पलायन से कोरोना संक्रमण का तेजी से फैलाव हो रहा है। पटना में 57 समेत नये 148 मामले आने के साथ गुरुवार दोपहर संक्रमितों की संख्या बढ़कर1872 हो गई। कोरोना संकट में क्वारंटाइन किए गए एक शख्स ने फंदा लगाकर आत्महत्या कर ली। इस बीमारी से इसे लेकर मृतकों की संख्या 11 हो गई है।

नये स्वास्थ्य सचिव ने पदभार संभाला
सूबे के नाते स्वास्थ्य सचिव उदय सिंह कुमावत ने पदभार ग्रहण करने के साथ गुरुवार को स्वास्थ्य विभाग के अधिकारियों के साथ कोरोना संकट को लेकर आवश्यक बैठक की और उचित दिशा निर्देश जारी किए। स्टेट सर्विलांस ऑफिसर रागिनी मिनरल ने बताया कि सूबे में बढ़ते संक्रमण से बचाव के लिए कारगर उपाय किए जा रहे हैं। अब तक 571 लोग स्वस्थ होकर घर लौट चुके हैं।

क्वारंटाइन सेंटर में खुदकुशी

वैशाली के राजकीय अंबेडकर आवासीय बालिका छात्रावास में क्वारंटाइन किए गए 35 वर्षीय राजेश महतो ने गले में फंदा डालकर बुधवार रात खुदकुशी कर ली। वह पुणे में बिजली मिस्त्री का काम करता था। वह कुछ समय पहले ही लौटकर आया था। घरवालों ने उसे क्वारंटाइन सेंटर में जाने को कहा था। तबीयत खराब होने पर उसे हाजीपुर सदर अस्पताल लाया गया और सैंपल लेने के बाद वापस वहीं भेज दिया गया था। बुधवार को फोन पर अपने परिजनों से बात कर दुखी था। वैशाली के पटेरी बेलसर के जारंग रामपुर गांव निवासी मृतक की रिपोर्ट कोरोना पॉजिटिव पाई गई है। क्वारंटाइन सेंटर में कुल 24 मरीज रह रहे थे।

बुधवार को भी एक की मौत

रागिनी मिनरल ने बताया कि बुधवार को भी एक 60 वर्षीय शख्स की मौत हो गई थी। वह 17 मई से ही आपदा राहत केंद्र में रह रहा था। तबीयत खराब होने पर उसे बेगूसराय सदर अस्पताल में भर्ती किया गया था। बुधवार को भी कोरोना संक्रमण के 155 मामले सामने आए थे। सूबे में अब तक संक्रमित 571 लोग विभिन्न अस्पतालों और क्वारंटाइन सेंटरों से स्वस्थ होकर अपने घर वापस जा चुके हैं।

Corona virus
Show More
Yogendra Yogi Desk
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned