बीएसएससी की परीक्षा से पहले ही उसका आंसर शीट व्हाट्सएप पर वायरल

बीएसएससी की परीक्षा से पहले ही उसका आंसर शीट व्हाट्सएप पर वायरल
Bihar news, patna news, BSSC exam, BSSC examination, SSP Manu Maharaj, competitive examinations

Indresh Gupta | Updated: 30 Jan 2017, 01:35:00 PM (IST) Patna, Bihar, India

बीएसएससी की परीक्षा से पहले ही उसका आंसर शीट व्हाट्सएप पर वायरल हो गया और इससे करोड़ों की कमाई हुई। हालांकि आयोग अभी भी इससे इंकार कर रहा है।

पटना। रविवार को बीएसएससी इंटरस्तरीय परीक्षा के प्रश्नपत्र में पूछे गए साठ फीसदी सवाल परीक्षा शुरू होने से पूर्व केंद्रों से वाट्स एप पर बाहर आ गए। राजधानी पटना समेत सूबे के कई जिलों जालसाजों ने इसे हल करवाकर खुलेआम बेचकर लाखों की कमाई की है।

हालांकि आयोग ने इसकी पुष्टि नहीं की है, लेकिन प्रकरण को जांच का विषय बताया है। बिहार कर्मचारी चयन आयोग के सचिव परमेश्वर राम से जब इंटरस्तरीय परीक्षा के दौरान ही प्रश्नों के वाट्सएप पर वायरल होने की जानकारी दी गई तो उन्होंने कहा कि आयोग के चेयरमैन व सचिव समेत तीनों पदाधिकारी ही आयोजन के लिए जिम्मेदार नहीं है।

बीएसएससी की परीक्षा से पहले ही उसका आंसर शीट व्हाट्सएप पर वायरल हो गया और इससे करोड़ों की कमाई हुई। हालांकि आयोग अभी भी इससे इंकार कर रहा है। प्रश्न पत्र एजेंसी से सीधे विभिन्न जिलों के डीएम के पास पहुंचे थे। प्रश्नपत्र ट्रेजरी में सुरक्षित रखे गए थे।

परीक्षा के आयोजन की जिम्मेदारी डीएम, एसपी, डीआइजी व जोनल आइजी आदि की थी। कदाचारमुक्त परीक्षा कराने के लिए सभी को पत्र लिखा गया था। ऐसे में यह जांच का विषय है कि पेपर कहां से लीक हुआ है। वहीं उन्होंने यह भी कहा कि शाम तीन बजे तक उसके पास पेपर लीक होने का कोई साक्ष्य सामने नहीं आया है।

बता दें कि पटना पुलिस ने शनिवार को सेना में बहाली और प्रतियोगी परीक्षाओं में सेटिंग करने वाले गिरोह का भंडाफोड़ किया था। पुलिस ने गिरोह के सरगना मुन्ना कुमार समेत चार गुर्गों को गिरफ्तार किया था। आज बाहर आए प्रश्न मैच करने की बाबत जब परीक्षार्थियों से बात की गई तो उन्होंने बताया कि प्रश्नपत्र लीक की बात अफवाह नहीं हो सकती, क्योंकि ज्यादातर प्रश्न लीक पेपर से मैच कर रहे हैं।

उन्होंने बताया कि परीक्षा हॉल में जब प्रश्न पत्र हाथ में आया तो देखकर हैरानी हुई कि अधिकतर प्रश्न, लीक प्रश्नपत्र से मैच कर रहे थे, इस बात का पता चलते ही मामले की सख्ती से जांच की जा रही है। फिलहाल इस बारे में कोई पुख्ता सुबूत या आधिकारिक पुष्टि नहीं हो पाई है।

पुलिस कर रही पूछताछ

रविवार परीक्षा आरंभ होने के पहले से ही कई तरह के प्रश्नपत्र बाजार में बिकने लगे थे। पुलिस ने इसे गंभीरता से लिया। पुलिस सुबह से ही कई फोटो कॉपी के दुकानदारों से पूछताछ कर रही थी।

कई दस्तावेज बरामद

पुलिस को गिरोह कि पास से कई उम्मीदवारों के शैक्षणिक प्रमाणपत्र, आर्मी की बहाली से जुड़े दस्तावेज, एक दर्जन से अधिक एटीएम कार्ड, मोबाइल, दो लग्जरी गाडिय़ां और 3.48 लाख रुपए बरामद हुए हैं। मुन्ना ने एक्स आर्मीमैन का फर्जी पहचान पत्र बनवा रखा था, जिसे दिखाकर वह आवेदकों से मोटी रकम की उगाही करता था।

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned