साकेत कोर्ट में बालिका गृह मामले पर फैसला टला, सीबीआई से अदालत ने ब्रजेश ठाकुर की याचिका पर मांगा जवाब

बालिका गृह मामला: मुजफ्फरपुर बालिका गृह मामले में दिल्ली साकेत कोर्ट में सभी आरोपियों के जमानती नहीं होने से सुनवाई टल गई।मुख्य आरोपी ब्रजेश ठाकुर की याचिका पर अदालत ने सीबीआई को जवाब दाखिल करना है।

Navneet Sharma

January, 1406:24 PM

पटना. प्रियरंजन भारती

मुजफ्फरपुर बालिका गृह मामले में दिल्ली साकेत कोर्ट में सभी आरोपियों के जमानती नहीं होने से सुनवाई टल गई।मुख्य आरोपी ब्रजेश ठाकुर की याचिका पर अदालत ने सीबीआई को जवाब दाखिल करना है। अब इस मामले की सुनवाई 20जनवरी को दोपहर ढाई बजे के करीब होगी।

उसी दिन अदालत इस मामले पर फैसला सुनाएगी।मुख्य आरोपी ब्रजेश ठाकुर की तरफ से कोर्ट में दाखिल याचिका में कहा गया है कि सीबीआई ने हलफनामे में जो बात लड़कियों के बयान को लेकर कही वो झूठी निकली।सीबीआई ने हलफनामा दायर कर कहा था कि लड़कियों ने बयान दिया है कि बालिका गृह में 31लड़कियों की हत्या की गई।हलफनामे में यह भी कहा कि पीड़ित लड़कियों द्वारा दर्ज़ बयान पर विश्वास नहीं किया जाए।

अदालत ने ब्रजेश ठाकुर के हलफनामे पर सीबीआई से जवाब मांगा है।सीबीआई को दो दिनों में जवाब दाखिल करना है।
यह मामला मुंबई की टाटा इंस्टीट्यूट ऑफ सोशल साइंस की रिसर्च में सामने आया था।इस मामले में दिल्ली की साकेत कोर्ट ने ब्रजेश ठाकुर समेत 21आरोपियों के खिलाफ पॉक्सो, बलात्कार,आपराधिक साजिश और अन्य धाराओं में आरोप तय किया था।इस मामले में ब्रजेश ठाकुर के अलावा शेल्टर होम के कर्मचारी और बिहार सरकार के समाज कल्याण विभाग के अधिकारी भी आरोपी हैं।
मामला सुर्खियों में आने के बाद सुप्रीम कोर्ट ने इसे बिहार से दिल्ली ट्रांसफर कर दिया था।इसके बाद साकेत कोर्ट में इसकी सुनवाई चल रही है।अदालत ने 20मार्च 2018को मामले में आरोप तय किए थे।आरोपियों में आठ महिलाएं और बारह पुरुष शामिल हैं।

Navneet Sharma Desk
और पढ़े
खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned