लापरवाही बरतने वाले बीडीओ पर कार्रवाई के आदेश के बाद मचा हडकंप

गोपालगंज के जिलाधिकारी ने फरमान जारी किया है, जिसके अंतर्गत कार्य में लापरवाही बरतने वाले बीडीओ पर तत्काल कार्रवाई करते हुए प्राथमिकी दर्ज करने की बात कही गई है। वहीं जिलाधिकारी के फरमान पर लापरवाही बरतने वाले बीएलओ का वेतन भी रोका जा रहा है।

Navneet Sharma

November, 1606:18 PM

पटना. गोपालगंज के जिलाधिकारी ने फरमान जारी किया है, जिसके अंतर्गत कार्य में लापरवाही बरतने वाले बीडीओ पर तत्काल कार्रवाई करते हुए प्राथमिकी दर्ज करने की बात कही गई है। वहीं जिलाधिकारी के फरमान पर लापरवाही बरतने वाले बीएलओ का वेतन भी रोका जा रहा है। जिलाधिकारी के ऑर्डर के जारी होने के बाद हड़कंप मचा हुआ है। लेकिन आदेश पत्र जारी होने के बाद कार्रवाई करने वाले अधिकारी परेशान हैं कि कार्रवाई करें कैसे? इसकी वजह ये है,पत्र में विभाग की तरफ से जारी की गई तिथि। जिलाधिकारी द्वारा जारी किए गए पत्र में अंकित तिथि और कार्रवाई की तिथि पर किसी ने ध्यान नहीं दिया और इसे जारी कर दिया गया। अब इस पत्र को लेकर अधिकारी परेशान हैं कि कार्रवाई कैसे की जाए?
दरअसल, पत्र में बीडीओ को आदेश दिया गया है कि अपने प्रखंड के शत-प्रतिशत मतदाताओं का सत्यापन आज दिनांक 14.11.2019 की संध्या तक कराना सुनिश्चित करें अन्यथा संबंधित प्रखंड विकास पदाधिकारियों को इस कार्य के लिए दोषी मानते हुए उनके विरूद्ध प्राथमिकी दर्ज करने की कार्रवाई की जाएगी।
41 बीएलओ के वेतन पर लगी रोक
बता दें कि कुचायकोट प्रखंड में कार्य मे लापरवाही बरतने वाले 41 बीएलओ के वेतन पर रोक लगाते हुए विभागीय कारवाई का आदेश बीडीओ ने संबंधित विभाग के अधिकारियों को दिया है।
बीडीओ दीपचंद्र जोशी ने बताया कि डीएम अरसद अजीज ने मतदाता सत्यापन कार्यक्रम के अंतर्गत कार्य में लापरवाही व शिथिलता को लेकर मतदान केंद्र स्तरीय पदाधिकारियों का तत्काल प्रभाव से वेतन स्थगित करने तथा उन पर विभागीय कार्रवाई का आदेश दिया है। जिसके आलोक में 41 बीएलओ के वेतन पर रोक लगा दी गई है।

Navneet Sharma
और पढ़े
खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned