जानिए कौन थे आपके दादा के भी पूर्वज

जानिए कौन थे आपके दादा के भी पूर्वज
जानिए कौन थे आपके दादा के भी पूर्वज

Navneet Sharma | Publish: Sep, 14 2019 06:44:42 PM (IST) Patna, Patna, Bihar, India

Pitr paksh: विश्वास नहीं तो आंख से देख लीजिए, इनके पास है आपकी पांच पीढियों का पूरा बहिखाता, कौन थे आपके पिता के पड़ दादा और उनके दादाजी

गयाधाम.प्रियरंजन भारती।

यह कोई हैरत की बात नहीं है, आज हम अपने दादा या इनके पिताजी के बारे में भी ठीक से नहीं जानते हैं। लेकिन हमारे ही देश में कई ऐसे प्रख्याड पंडित और गयावाल पंडे है जिनके पास हमारी पांच पुस्तों का पूरा रिकॉर्ड मिल जाएगा। यही नहीं इनके पास आपके पूर्वजों के साथ यहां आने वाले आपके रिश्तेदारों के नाम व हस्ताक्षर भी मिल जाएंगे जो पहले यहां आ चुके हैं।
एक तरफ जहां देश और समाज डिजिटल की तरफ जा रहा है, समाज आनलाइन हो रहा है, वहीं गयावाल पंडों के पास गयाश्राद्ध कराने के लिए आने वाले देश विदेश क पिंडदानियों को ढाई सौ साल पुराना रिकॉर्ड मौजूद हैं।

बहिखातों के जरिए कमाते हैं रोजी रोटी
धरोहरों की तरह रखे बही खातों के जरिए ही गयावाल पंडों की रोजी रोटी चल रही है। पंडा समाज गयाधाम आने वाले यात्रियों के पूर्वजों का रिकॉर्ड दिखाकर उनको विश्वास में लेते हैं अैर यजमान बना लेते हैं। इन्हीं बही खातों की बदौलत गयावाल पंडों की कई पीढिय़ों ने यजमानों के श्राद्ध तर्पण कराते हैं।

पहले कैथी में थे अब हिंदी में करवाया
बंगाल और झारखंड के पंडा कन्हैया लाल धोकड़ी ने बताया कि उनके पास दो सौ साल से ज्यादा पुराने बही खाता हैं। पहले कैथी में लिखे थे। अब उसे हिंदी में करवाया है।बही खातों में गयाश्रे कर चुके पिंडदानियों की वंशावली दजऱ् है। विष्णुपद मंदिर प्रबंधकारिणी समिति के सचिव व गयापाल गजाधर लाल पाठक ने कहा कि देश के विभिन्न प्रदेशों के अलग अलग पंडे हैं।इस तरह के बही खाते सभी गयावाल पंडों के पास मौजूद हैं।
कोई भी पिंडदानी आता है तो सभी पंडे बही खाते खोलकर उन्हें उनके पूर्वजों के गयाश्राद्ध के लिए आने का विवरण और हस्ताक्षर दिखाते हैं। इससे खुश होकर ये पितरों को मोक्ष दिलाने के कर्मकांड में जुट जाते हैं।पिडक ने बताया कि ऑनलाइन के ज़माने में भी गयाधाम में बही खातों का महत्व पहले ही जैसा बरकरार है।

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned