भक्तों की गलती के कारण भगवान हनुमान को जाना पड़ा मधेपुरा जेल

गगनमार्ग से पलक झपकते ही लंबी दूरी लांघकर इच्छित स्थान पहुंचने वाले हनुमान जी को भक्तों की गलती से मधेपुरा की जेल का सफर तय करना पड़ गया। पुलिस प्रशासन की टीम ने हनुमान जी की मूर्ति को मधेपुरा मंडल जेल के मंदिर में पहुंचा दिया।

By: Navneet Sharma

Updated: 27 Nov 2019, 05:51 PM IST

मधेपुरा. गगनमार्ग से पलक झपकते ही लंबी दूरी लांघकर इच्छित स्थान पहुंचने वाले हनुमान जी को भक्तों की गलती से मधेपुरा की जेल का सफर तय करना पड़ गया। पुलिस प्रशासन की टीम ने हनुमान जी की मूर्ति को मधेपुरा मंडल जेल के मंदिर में पहुंचा दिया।
दरअसल मामला शहर की भीड़भाड़ वाली सड़क है, इसी सड़क पर शहर के उच्चाधिकारियों के सरकारी कार्यालय भी हैं। शहर के इस अति महत्वपूर्ण सडक़ पर एक पीपल पेड़ के नीचे भक्तों ने मंदिर निर्माण के पूर्व हनुमान जी की मूर्ति लगा दी थी। इस सडक़ के किनारे ही डीएम और एसपी कार्यालय के साथ साथ कई सरकारी दफ्तर हैं। भारी टे्रफिक होने के कारण मार्ग अवरुद्ध होने के खतरा बन गया था। भक्तों ने हनुमान जी का मंदिर वहीं बनवाने का अभियान चला रखा था। मंगलवार को शहर में अतिक्रमण हटाने के दौरान प्रशासन और पुलिस की टीम ने हनुमान जी की मूर्ति को पहले थाने ले जाकर रखा। फिर सम्मान के साथ मंडल कारा मधेपुरा स्थित मंदिर में ले जाकर स्थापित कर दिया। स्थानीय एसडीओ बीरेंद्र कुमार झा ने कहा कि भगवान को गंदी जगह पर रख छोड़ा था। इसलिए मूर्ति को वहां से हटाकर सुरक्षित और बढिय़ा जगह स्थापित कर दिया गया।

Navneet Sharma
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned