नीतीश बोले- पुलिस फेल होती है, तो बदनामी सरकार को उठानी पड़ती है

नीतीश बोले- पुलिस फेल होती है, तो बदनामी सरकार को उठानी पड़ती है

Prateek Saini | Publish: Dec, 03 2018 05:35:40 PM (IST) Patna, Patna, Bihar, India

नीतीश कुमार ने कहा कि जब मैंने कार्यभार ग्रहण किया था तो अपराधियों के पास एके 47 राइफलें होती थीं और पुलिस के पास कुछ नहीं था। आज पुलिस हर तरह से समर्थ है और अपराधी जेल की हवा खा रहे हैं...

(पटना): मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने कहा कि जब पुलिस फेल होती है तो बदनामी सरकार को उठानी पड़ जाती है। कहा जाता है कि कानून व्यवस्था फेल हो गई। इसलिए पुलिस राज्य की जनता की हिफाजत सही तरीके से करे, ताकि कोई परेशान न हो पाए।


पुलिस एकेडमी बनकर तैयार

राजगीर में पुलिस ट्रेनिंग सेंटर का उद्घाटन करते हुए नीतीश कुमार ने ये बातें कहीं। उन्होंने कहा कि झारखंड विभाजन के बाद सूबे में पुलिस ऐकेडमी की बहुत ज़रूरत थी। मैंने राजगीर में इसके निर्माण का संकल्प किया था। आज 133 एकड़ में 275 करोड़ की लागत से पुलिस ऐकेडमी बनकर तैयार है। इसमें एक साथ आईपीएस अधिकारी और सिपाही ट्रेनिंग ले सकते हैं, ऐसे इंतजाम किए गए हैं।

 

पुलिस बेहतर तरीके से अपना काम करे


सीएम ने पुलिस वालों को संबोधित करते हुए कहा कि सूबे की जनता की हिफाजत का जिम्मा पुलिस का है। पुलिस बेहतर तरीके से अपना काम करे। यह गलत संदेश न जा पाए कि राज्य की कानून व्यवस्था पूरी तरह चौपट है। उन्होंने कहा कि पुलिस सक्षम है किसी भी अपराधी को पकड़ने में। पुलिस दक्षता से अपना काम करे। ऐसा न लगे कि पुलिस किसी को बेवजह फंसा रही या किसी को बचा रही है। उन्होंने कहा कि जब मैंने कार्यभार ग्रहण किया था तो अपराधियों के पास एके 47 राइफलें होती थीं और पुलिस के पास कुछ नहीं था। आज पुलिस हर तरह से समर्थ है और अपराधी जेल की हवा खा रहे हैं।

खबरें और लेख पड़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते है । हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते है ।
OK
Ad Block is Banned