poster dispute: नीतीश को लेकर सियासी घमासान में पासवान का समर्थन

जीत मोदी के नाम पर मिलने के बाद भी धारा370 हटाए जाने,तीन तलाक प्रथा खत्म करने और एनआरसी के मुद्दों पर जदयू के विरोध से होती है तकलीफ यह कहना है केंद्रीय मंत्री गिरिराज सिंह का

By: Navneet Sharma

Updated: 16 Sep 2019, 06:44 PM IST

पटना. प्रियरंजन भारती।
एनडीए की सहयोगी लोकजन शक्ति पार्टी(Lokjan shakti party) के सुप्रीमो रामविलास पासवान(Ramvilas paswan) ने बिहार में मुख्यमंत्री पद की रेस में नीतीश कुमार का समर्थन किया है। पासवान ने कहा कि नीतीश कुमार(Nitish kumar) मुख्यमंत्री थे,हैं और रहेंगे। पासवान ने एक अंग्रेजी अखबार को दिए साक्षात्कार में कहा कि नीतीश कुमार बिहार में एनडीए सरकार के मुख्यमंत्री और नेता हैं। आगे भी वह नेता रहेंगे। उन्होंने यह भी कहा कि वह तब तक नेता बने रहेंगे जब तक भारतीय जनता पार्टी एनडीए का कोई दूसरा नेता नहीं चुन लेती। पासवान ने कहा कि भाजपा का क्या रूख होगा, वह नहीं जानते।
बता दें कि नीतीश कुमार के नए होर्डिंग्स लगने के बाद शुरू हुए घमासान के बीच अब भाजपा के भीतर से भी कई सवाल उठने लगे हैं। पार्टी के फायरब्रांड नेता और केंद्रीय मंत्री गिरिराज सिंह(Giriraj singh) ने भी ट्वीट कर इस धधकती आग में आहुति दी। सिंह ने लिखा कि लोकसभा चुनाव में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के नाम पर एनडीए ने40 में 39सीटें जीत लीं। नीतीश कुमार एनडीए के नेता और मुख्यमंत्री हैं। लेकिन धारा370हटाए जाने,तीन तलाक प्रथा खत्म करने और एनआरसी के मुद्दों पर जदयू के विरोध करने से तकलीफ होतीं है।
इस मसले पर भाजपा नेता संजय पासवान ने शुरु में बयान देकर नीतीश के नेतृत्व पर सवाल उठाए थे। हालांकि इस विवाद को उपमुख्यमंत्री सुशील कुमार मोदी ने ट्वीट कर नीतीश कुमार के नेतृत्व का समर्थन करते हुए यहां तक कह दिया था कि प्रदेश भाजपा में नीतीश कुमार की बराबरी का कोई नेता नहीं है। प्रदेश भाजपा के ज्यादातर नेता दबी जुबान से ही सही पार्टी के अपने दम पर विधानसभा चुनाव में उतरने की बात करने में कोताही नहीं बरत रहे हैं।

Show More
Navneet Sharma
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned