Video: छटपटाती रही नीलगाय फिर भी जिंदा दफनाया, 300 को गोलियों से भूना, शूटर पर केस

Watch Nilgai Video: शूटरों ने 300 नीलगायों ( 300 Nilgais Killed ) को मौत के घाट उतार दिया गया। मामले ने तूल तब पकड़ा जब एक नील गाय को जिंदा दफना दिया गया। और इसके बाद...

By: Prateek

Updated: 09 Sep 2019, 02:44 PM IST

Patna, Patna, Bihar, India

(वैशाली): बिहार में नीलगायों से पीछा छुड़ाने के तरीके की चारों तरफ आलोचना हो रही है। स्थानीय विधायक और जिला प्रशासन के आदेश से शूटरों ने 300 नीलगायों को मौत के घाट उतार दिया गया। मामले ने तूल तब पकड़ा जब एक नील गाय को जिंदा दफना दिया गया। और इसके बाद...


शूटर को बनाया अभियुक्त

यह मामला वैशाली जिले के भगवानपुर थाने और गोरौल प्रखंड के रसूलपुर तुर्की गांव का है। नीलगाय को जिंदा दफनाने के मामले ने तूल पकड़ा तो वन क्षेत्र पदाधिकारी मुक्तेश्वर नाथ सहाय ने आंध्र प्रदेश के शूटर नवाब शपथ अली को भी अभियुक्त बनाया है।

 

दया से देखती रही नीलगाय...

पिछले दिनों एक सितंबर को शूटर की गोली से घायल नीलगाय को जेसीबी से गड्ढा खोदकर जिंदा ही दफना दिया गया था। मिट्टी भरने के दौरान जख्मी नीलगाय गांववालों की भीड़ की तरफ जीवन की उम्मीद से लोगों की तरफ देख रही थी पर किसी को तरस नहीं आई। वीडियो वायरल होने के साथ ही इस पर हंगामा बरपा। कई संगठनों ने आपत्तियां दर्जं करवाईं। भगवानपुर थाने में पशु क्रूरता अधिनियम के तहत जेसबी चालक समेत अन्य के खिलाफ तीन सितंबर को एफआईआर दर्ज़ की गई।

 

इस वजह से करवाई गई हत्या...

वैशाली के विभिन्न इलाकों में नीलगायों के झुंड खेतों में लगी फसलों को नष्ट कर दे रहे थे। इसे लेकर वैशाली के किसानों ने आक्रोश जताया। विधायक राजकिशोर सिंह ने जिला प्रशासन से मिलकर नीलगायों को मारने के आदेश दिलवाए। इसके लिए जिला प्रशासन ने आंध्र प्रदेश से बुलाए गए शूटरों की मदद से लगभग दो सौ नीलगायों को मार गिराया। इसी दर्मियान एक शूटर ने गोली मारकर नीलगाय को जख्मी कर दिया और गांव वालों ने रहम की भीख मांगती आंखों से निहारते नीलगाय को क्रूरता की हदें पार कर जिंदा ही दफन कर डाला।

बिहार की ताजा ख़बरें पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें...

यह भी पढ़ें: मंदी का असर: जिनकी नौकरियां गई उन्हें काम मिलेगा या नहीं, कोई बताने वाला नहीं

Show More
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned