अगस्त में शुरू होगा बीटेक का नया सेशन : प्रो. रायना

आइआइटी व एनआइटी का नया सेशन अक्टूबर से शुरू होने की उम्मीद
दो महीने आगे खिसक सकता है एजुकेशन सिस्टम

By: Surya Pratap Singh Rajawat

Published: 16 May 2020, 10:43 PM IST

जयपुर. कोरोना के कारण देशभर में चल रहे लॉकडाउन के चलते बोर्ड एग्जाम्स के साथ ही जेईई मेन, एडवांस्ड, नीट सहित विभिन्न कॉम्पीटेटिव एग्जाम्स भी आगे बढ़ा दिए गए हैं। हाल में यूजीसी और एआइसीटीई ने एकेडमिक कैलेंडर जारी करते हुए कहा है कि देशभर के इंस्टीट्यूशंस एक अगस्त से ऑलरेडी एन्रॉल्ड स्टूडेंट्स के लिए एकेडमिक सेशन और सितंबर से फ्रेश एडमिशन का सेशन शुरू करेंगे। कोविड-१९ के कारण देश का पूरा एजुकेशन सिस्टम दो महीने आगे खिसक गया है। एमएचआरडी की ओर से सीबीएसई बोर्ड एग्जाम्स की डेट जारी किए जाने के बाद अगले सेशन्स की तस्वीर थोड़ी साफ होती नजर आ रही है। पत्रिका प्लस ने यूनिवर्सिटीज से उनकी अपकमिंग प्लानिंग के बारे में जाना।
एक्सपट्र्स का कहना है कि इस साल आइआइटी और एनआइटी का नया सेशन अक्टूबर से शुरू हो सकता है। हाल ही एमएचआरडी ने जेईई एडवांस्ड की डेट 23 अगस्त डिक्लेयर की है। अगस्त लास्ट तक भी एनटीए रिजल्ट घोषित करता है, तो सितंबर माह काउंसलिंग के लिए चाहिए। ऐसे में नया सेशन अक्टूबर में ही शुरू होता दिख रहा है। प्राइवेट इंस्टीट्यूशन जेईई मेन के स्कोर के आधार पर ही एडमिशन दे देते हैं, इसलिए इनमें सितंबर से नया एकेडमिक सेशन शुरू होने की उम्मीद है।

जून में समर वेकेशन
जेके लक्ष्मीपत यूनिवर्सिटी के वाइस चांसलर आरएल रायना का कहना है कि 31 मई तक ऑनलाइन क्लासेज की जाएंगी। स्टूडेंट्स की प्रॉब्लम को देखते हुए हम ऑनलाइन क्लासेज को रिकॉर्ड भी कर रहे हैं। जून मेें हम समर वेकेशन रखेंगे। वहीं हर कोर्स के हिसाब से 15 जुलाई तक प्रैक्टिकल, लैब्स और उन टॉपिक्स को कम्पीट कराएंगे, जिनकी ऑनलाइन स्टडी पॉसिबल नहीं है। वहीं 16 से 30 जुलाई तक एग्जाम कराने पर फोकस रहेगा। हमारे यहां बीटेक का नया सेशन अगस्त से शुरू किया जाएगा।

रिवाइज नहीं होगा सिलेबस, वेकेशन छोटी करेंगे
यूजीसी की ओर से गठित कमेटी का हिस्सा रहे वनस्थली विद्यापीठ के वाइस चांसलर आदित्य शास्त्री का कहना है कि यूनिवर्सिटी में पढ़ रहे स्टूडेंट्स का एकेडमिक सेशन 15 जुलाई से शुरू होने जा रहा है। अगर 15 जुलाई तक लॉकडाउन हटने के बाद गवर्नमेंट इंस्टीट्यूशन ओपन करने की परमिशन देती है तो फिजिकल क्लासेज लगाकर स्टूडेंट्स की पढ़ाई शुरू कराएंगे। परमिशन नहीं मिलने की स्थिति में ऑनलाइन क्लासेज लगाएंगे, लेकिन सेशन में किसी प्रकार की देरी नहीं होने देंगे। शास्त्री का कहना है कि हायर एजुकेशन में सिलेबस को छोटा नहीं किया जाना चाहिए। देरी से सेशन शुरू होने की स्थिति में दिवाली और विंटर वेकेशन में कमी करने के साथ दूसरे ऑप्शंस भी मौजूद हैं।

फैकल्टी रिक्रूटमेंट भी वर्चुअल
पूर्णिमा यूनिवर्सिटी के डायरेक्टर राहुल सिंघी का कहना है कि लॉकडाउन से पहले 70 परसेंट कोर्स कम्पलीट करवा चुके थे। वहीं ऑनलाइन क्लासेज और असाइनमेंट्स से बाकी का 30 परसेंट कोर्स भी पूरा हो चुका है। जुलाई में एंडटर्म एग्जाम्स कराएंगे। इस बार एग्जाम्स पैटर्न में भी बदलाव कर रहे हैं। सब्जेक्टिव के साथ मल्टीपल चॉइस क्वेश्चन भी इंट्रोड्यूज कर रहे हैं। ताकि स्टूडेंट सेल्फ प्रोक्टर्ड मोड पर भी एग्जाम दे सके। वर्तमान के हालात को देखते हुए क्लासरूम लेक्चर्स रिकॉर्ड कर रहे हैं। अगर जरूरत रही तो अगला सेमेस्टर पूरा ऑनलाइन पढ़ा सकते हैं। इसके लिए बैकअप तैयार कर रहे हैं। इस बार फैकल्टी रिक्रूटमेंट भी वर्चुअल रहेगा। पहले से एन्रॉल्ड स्टूडेंट्स का सेशन अगस्त और फ्रेश एडमिशन का एकेडमिक सेशन सितंबर से शुरू करने के प्रयास रहेंगे।

Corona virus
Surya Pratap Singh Rajawat
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned