इस खेत की फसल हो गई चौपट, बचा तो सिर्फ कंकड़, रेत और पानी

इस खेत की फसल हो गई चौपट, बचा तो सिर्फ कंकड़, रेत और पानी
इस खेत की फसल हो गई चौपट, बचा तो सिर्फ कंकड़, रेत और पानी

Chandra Kishor Deshmukh | Updated: 12 Sep 2019, 08:30:12 AM (IST) Balod, Balod, Chhattisgarh, India

बीते दिनों बारिश के बाद सेमरिया नाले में आई बाढ़ का असर आसपास के गांवों के किसानों की खड़ी फसल पर पड़ा है। पानी से खड़ी फसल सड़ गई है।

बालोद @ patrika. बीते दिनों बारिश के बाद सेमरिया नाले में आई बाढ़ का असर आसपास के गांवों के किसानों की खड़ी फसल पर पड़ा है। पानी से खड़ी फसल सड़ गई है।

किसान ने की मुआवजे की मांग
ग्राम परसोदा के किसान रामलाल सिन्हा 60 वर्ष बताया कि सेमरिया नाला के समीप खेत होने के कारण फसल कई दिनों से पानी में डूबी रही। पानी कम होने पर पूरी फसल सड़ चुकी है। खेत में कंकड़, रेत और पानी ही नजर आ रहा है। पीडि़त किसानों ने शासन से मुआवजे की मांग की है। किसानों ने जिला प्रशासन से फसल का आकलन कर उचित मुआवजा की गुहार लगाई है।

जिले में अब तक 912 मिमी वर्षा दर्ज
बालोद ञ्च पत्रिका . जिले में चालू मानसून सत्र के दौरान एक जून से 11 सितंबर तक 912.8 मिलीमीटर औसत वर्षा दर्ज की गई। कलक्टर कार्यालय के भू-अभिलेख शाखा से प्राप्त जानकारी के अनुसार बालोद तहसील में अब तक 1148.5 मिलीमीटर, गुरुर तहसील में 1048.4 मिलीमीटर, गुंडरदेही तहसील में 705 मिलीमीटर, डौंडी तहसील में 933 मिलीमीटर और डौंडीलोहारा तहसील में 729.1 मिलीमीटर वर्षा दर्ज
की गई।

Show More

MP/CG लाइव टीवी

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned