भिलाई@Patrika. विघ्नविनाशक गणपति की विदाई बुधवार से शुरू हो गई। अनंत चतुर्दशी के पहले शहर में छोटी प्रतिमाओं का विसर्जन शुरू हो गया। दिनभर हवन-पूजन के बाद लोगों ने शहर के तालाबों में जाकर विसर्जन किया। हालांकि निगम ने विसर्जन के लिएतालाबों को चिन्हित किया है,लेकिन लोगों ने उसे दरकिनार कर वहीं प्रतिमा विर्जन की जहां प्रतिबंध है। शहर की ज्यादातर प्रतिमाओं का विसर्जन गुरुवार को होगा। सिविक सेंटर में हर वर्ष की तरह बेस्ट झांकी की प्रतियोगिता भी होगी। तालपुरी को जाने वाली गणेश प्रतिमाओं की झांकी को देख यहां बेस्ट प्रतिमा का पुरस्कार भी दिया जाएगा। सेक्टर 2 अय्यपा मंदिर के पीछे तालाब में विसर्जन प्रतिबंधित होने के बोर्ड को देखकर भी लोग नहीं माने। बुधवार दोपहर से यहां विसर्जन का दौर शुरू हुआऔर रात तक चलता रहा। यहां बारिशकी वजह से तालाब भी ओवर फ्लो हो गया और वहां की सीढिय़ां भी पानी में डूब चुकी है। ऐसे में यहां सुरक्षा के कोईइंतजाम नहीं थे। पिछले साल यहां निगम की ओर से कर्मी की ड्युटी लगाई गई थी जो विसर्जन के बाद प्रतिमाओं को इक्ट्ठा कर रहेथे,लेकिन यहां इस बार लोग सीधे ही प्रतिमा को तालाब में विसर्जित करने लगे।

MP/CG लाइव टीवी

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned