मजदूर जुटे, भिलाई स्टील प्लांट प्रबंधन ने ली ठेकेदारों की क्लास

Abdul Salam

Publish: Aug, 14 2019 11:30:18 PM (IST)

Bhilai, Durg, Chhattisgarh, India

भिलाई. भिलाई इस्पात संयंत्र के ठेका मजदूरों ने बुधवार को आईआर विभाग के सामने जमकर प्रदर्शन किए। आंदोलनरत मजदूरों से प्रबंधन ने चर्चा किया। इसके बाद ठेकेदारों को भी मौके पर ही तलब किए। ठेकेदारों ने प्रबंधन को लिखित में दिया कि कर्मियों जिनका वेतन बकाया है या पीएफ व ईएसआई से संबंधित दिक्कत है, उसे जल्द दूर कर देंगे। इसके बाद मजदूर वहां से लौटे। प्रदर्शन के बाद सीटू के वरिष्ठ नेता पीके मुखर्जी ने बताया कि ठेका श्रमिक सीटू के बैनर तले बीएसपी आईआर के सामने प्रदर्शन किए। Bhilai Steel Plant प्रबंधन ने गेट में ताला लगा दिया था। मजदूरों की शिकायत के लिए आईआर विभाग बना है। वहां प्रवेश करने तक नहीं दे रहे थे। व्यवस्था बनाने के नाम पर पुलिस को भी बुलाया गया था। जहां मजदूर अपनी मांग को सामने रख रहे हैं, वहां इस तरह से माहौल बना रहे हैं।

सिस्टम में सुधार की है जरूरत

सीटू ने प्रबंधन से कहा कि ठेकेदार अच्छा काम करने के साथ मजदूरों को पूरा वेतन तब देगा, जब सिस्टम में तब्दीली किया जाएगा। कम से कम रेट में काम करने की कोशिश में मजदूरों को पूरा वेतन ही नहीं दे रहे हैं। प्रबंधन रिवर्स ऑक्शन करवाता है, जिसका असर मजदूरों के शोषण है। ठेकेदार ३० फीसदी कम रेट पर काम लेकर करते हैं और मजदूरों को न्यूनतम वेतन तक नहीं देते।

प्रदर्शन से हरकत में आया प्रबंधन
मजदूरों ने अपने अधिकार के लिए जब लगातार आवाज उठाते हुए नारा लगाना शुरू किया। तब Bhilai Steel Plant आईआर विभाग के अधिकारियों ने ठेकेदारों को बुलाया और संयुक्त बैठक की। जिसमें सुधांशु ब्रदर, भिलाई प्रशिक्षु, अजित इंटरप्राइजेज के ठेकेदार को बुलवाकर श्रमिकों की समस्या के निराकरण के दिशा में पहल की।

ठेकेदारों ने लिखित में दिया आश्वासन
सेक्टर-९ में काम करने वाले ठेका कंपनी भिलाई प्रशिक्षु ने लिखित में माना कि बीएसपी से भुगतान के बाद वह सभी श्रमिकों का भुगतान कर देगा। जिसके लिए मजदूर बार-बार मांग कर रहे हैं। मजदूरों को अंतिम भुगतान करना शेष है।
बीएसपी के एचएससीएलटी श्रमिकों को 1040 रुपए भुगतान ठेकेदार नहीं कर रहे हैं। बीएसपी के करीब 36 विभाग हैं जहां यह श्रमिक काम करते हैं। कागजी कार्रवाई हो गई है। जल्द ही सभी एचएससीएलटी श्रमिकों को नियम से 1040 रुपए मिलने लगेगा।

सुधर जाएगी यहां की व्यवस्था भी
मैत्री गार्डन के श्रमिकों को सेफ्टी ट्रेनिंग दो दिनों में कर गेट पास जारी होगा। सेक्टर-9 के अटेंडेंट की पीएफ में गड़बड़ी नहीं होगी व वेतन पर्ची अगले माह से दिलवाई जाएगी। प्रबंधन ने आश्वस्त किया कि विभागों के श्रमिकों की शिकायत को संज्ञान में ले लिए हैं। सारी दिक्कतों का निराकरण किया जाएगा। सितंबर से कर्मियों को वेतन पर्ची, हाजिरी कार्ड, समय पर वेतन मिलने लगेगा। इस मौके पर यूनियन के अध्यक्ष जामिल अहमद, महासचिव योगेश सोनी, कमलेश चोपड़ा, डी मुरली, पीके मुखर्जी, प्रबंधन की ओर से प्रोजेक्ट सीएलसी के एमडी रेड्डी, रामाराव मौजूद थे।

यह रही मजदूरों की मांग :-
- डब्ल्यूएमडी के श्रमिकों मई 2019 का वेतन अब तक नहीं मिला, दिया जाए,
- डब्ल्यूएमडी विभाग के श्रमिकों का टेंडर होने के बाद गेट पास नहीं मिला, तीन माह से मजदूर रोजी से वंचित,
- सेक्टर-9 के अटेंडेंट को पीएफ में धांधली व वेतन पर्ची नहीं मिला,
- भिलाई प्रशिक्षु को 6 माह बाद भी अंतिम भुगतान नहीं मिला, जल्द दें,
- कांट्रेक्टर सुधांशु ब्रदर ने डब्ल्यूएमडी के डी शेड्यूल के 10 माह का वेतन बकाया है, समझौता के बावजूद मजदूरों को नहीं मिला भुगतान,
- मैत्री गार्डन के सफाई कर्मियों को गेट पास नहीं दिए,
- एचएसएलटी श्रमिकों का 1040 रुपए का भुगतान नहीं कर रहे हैं,
- सुरक्षा सामग्री, वेतन पर्ची, हाजरी कार्ड, समय पर वेतन पूरा वेतन जैसे मुद्दों को प्रबंधन के समक्ष रखा है।

MP/CG लाइव टीवी

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned