सबरीमाला के मंदिर में डाकिए पहुंचाते हैं भगवान को पत्र

डाकघर भक्तों द्वारा भेजे गए पेन कार्ड, विजिटिंग कार्ड और पर्स भी भगवान की सेवा में चढ़ाते हैं

By: सुनील शर्मा

Published: 03 Jan 2015, 01:25 PM IST

दक्षिण भारत की सबरीमाला पहाडियों में स्थित एक डाकघर ऎसा भी है जिसका कार्य भक्तों की डाक को भगवान तक पहुंचाना है। इस पोस्टऑफिस के कर्मचारी अयप्पा मंदिर में आने वाले भक्तों की डाक को ले जाकर भगवान को देते हैं।

क्यों भेजते हैं भक्त भगवान को पत्र

स्थानीय परंपराओं के अनुसार पवित्र मलयालम महीने (नवम्बर माह के शुरूआती हफ्ते) में दर्शनार्थी भक्तों की भारी भीड़ आती है। यह क्रम जनवरी के दूसरे-तीसरे सप्ताह तक लगातार चलता है। इस दौरान वहां देश के दूर-दराज क्षेत्रों से भक्तों की डाक भी आती है। इन डाक में अधिकांशतया शादी के निमन्त्रण पत्र, दुकानों का उद्घाटन तथा नए मकानों में गृहप्रवेश का आमंत्रण होता है जिन्हें भगवान अयप्पा की सेवा में भेजा जाता है।

अजीबोगरीब उपहार भी आते हैं मंदिर में

इसी दौरान मंदिर में 10 दिवसीय विष्णु महोत्सव भी मनाया जाता है। इस पूरे समय के दौरान पोस्टऑफिस सुबह के आठ बजे से रात आठ बजे तक खुलता है। पोस्टऑफिस में में कार्यरत सभी कर्मचारी इस दौरान काफी व्यस्त रहते हैं। डाकघर के सभी कर्मचारी इस कार्य से बहुत खुश भी है और इसे अपना सौभाग्य मानते हैं।

अजीबोगरीब उपहार भी आते हैं भगवान के लिए

पेन कार्ड, विजिटिंग कार्ड और पर्स भी भेजे जाते हैं यहां पर: डाकघर के कर्मचारियों के अनुसार कुछ लोग अपने पेन कार्ड, विजिटिंग कार्ड और पर्स भी भगवान की सेवा में चढ़ाने के लिए भेजते हैं। ऎसी स्थिति में उन्हें सही जगह पर भेजा जाता है। डाकघर अब तक 20 पेन कार्डस को इन्कम टेक्स विभाग को भेज चुका है जबकि पर्स आदि में मौजूद धनराशि को चढ़ावे में भेज दिया जाता है।
Show More
सुनील शर्मा
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned