यहां है दुनिया का सबसे बड़ा शिवलिंग, हर साल बढ़ रहा आकार

द्वादश ज्योतिर्लिंग के दर्शन करने मात्र से ही व्यक्ति को उसके सभी पापों से मुक्ति मिल जाती है

भगवान शिव के 12 ज्योतिर्लिंग देश के अलग-अलग हिस्सों में स्थित है। इन्हें द्वादश ज्योतिर्लिंग के नाम से जाना जाता है। कहा जाता है कि इन ज्योतिर्लिंग के दर्शन करने मात्र से ही व्यक्ति को उसके सभी पापों से मुक्ति मिल जाती है, लेकिन आज हम आपको एक ऐसे शिवलिंग के बारे में बताने जा रहे हैं, जिसे पूरे विश्व में सबसे बड़ा शिवलिंग माना जाता है।


अर्धनारीश्वर प्राकृतिक शिवलिंग

छत्तीसगढ़ में एक ऐसा शिवलिंग है, जिसकी मान्यता ज्योतिर्लिंग की तरह ही है। छत्तीसगढ़ के गरियाबंद जिले में स्थित भूतेश्वर महादेव एक अर्धनारीश्वर प्राकृतिक शिवलिंग है जो गरियाबंद के घने जंगलों में बसा है। आपको जानकर हैरानी होगी कि इस इस शिवलिंग का आकार हर साल बढ़ रहा है।


प्रकृति निर्मित है शिवलिंग

बताया जाता है कि इस शिवलिंग को किसी ने बनाया नहीं है, यह प्रकृति निर्मित है। बताया जाता है कि इसकी ऊंचाई को हर साल नापी जाती है। जबकि स्थानीय लोग बताते हैं कि इस शिवलिंग का आकार पहले बहुत छोटा था लेकिन कुछ साल बाद उसकी लंबाई और गोलाकार में बदलाव होने लगा।


इसलिए पड़ा भूतेश्वर नाम

सावन के महीने में यहां दूर दूर से भगवान शिव के भक्त उनकी अराधना करने पहुंचते हैं। स्थानीय लोगों का कहना है कि पहले भूतेश्वर महादेव एक छोटे टीले के रूप में थे। धीरे-धीरे इनका आकार बढ़ता गया और इनके आकार में बदलाव आज भी जारी है। शिवलिंग में प्रकृति प्रदत जललहरी भी दिखाई देती है जो धीरे-धीरे जमीन के ऊपर आती दिखाई दे रही है। इसलिए इसे भूतेश्वर महादेव के नाम से जाना जाता है।

Show More
Devendra Kashyap
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned