अंधविश्वास के चलते मासूम की बलि देने के मामले में तांत्रिक समेत दस आरोपी गिरफ्तार

पुलिस ने हत्या में इस्तेमाल किया गया सूजा, खून से सना कपड़ा और पूजा का सामान, त्रिशूल आदि बरामद किया है।

By: suchita mishra

Published: 27 Nov 2019, 05:51 PM IST

पीलीभीत। खेत में दबे खजाने को पाने के लालच में तीन साल के मासूम बच्चे की बलि देने के मामले में पुलिस ने आज तांत्रिक समेत 10 आरोपियों गिरफ्तार किया है। इन आरोपियों ने अंधविश्वास के चलते मासूम का अपहरण कर बलि दे दी थी। बच्चे के शरीर में कई जगह सूजा घोंपा था। उसकी आंखें निकाल ली थीं। इसके बाद उसे तालाब में फेंक दिया था। पकड़े गए सभी आरोपियों के खिलाफ एसपी के आदेश पर एफआईआर दर्ज कर ली गई है।

10 दिन पहले की घटना
घटना 17 नवंबर की है। बीसलपुर थाना क्षेत्र के पुरैनिया रामगुलाम गांव निवासी प्रेमशंकर सुबह तालाब से सिंगाड़ा निकालने के लिए गए थे। उनके साथ बेटी सवित्री, बेटा बाबूराम और तीन वर्षीय बेटा अरुण भी था। उन्होंने तीनों को तालाब के किनारे एक ढकेल पर बैठा दिया। जब वे सिंगाड़ा निकालकर तालाब से बाहर निकले तो बच्चे कहीं दिखायी नहीं दिए। घर पहुंचे तो देखा कि सावित्री और बाबूराम तो हैं, लेकिन अरुण नहीं मिल रहा था। इसके बाद बच्चे की काफी तलाश की लेकिन वो कहीं नहीं मिला। फिर उन्होंने बीसलपुर थाने में तहरीर दी। अगले दिन मासूम अरुण का शव तालाब में उतराता हुआ मिला। शव मिलने से क्षेत्र में सनसनी फैल गई।

यह भी पढ़ें: एसपी के पास शिकायत लेकर पहुंचा किन्नर, सरदार पर लगाए गंभीर आरोप, जानिए पूरा मामला!

पुलिस ने मौत की वजह पानी में डूबना बताया था
बीसलपुर पुलिस मौके पर पहुंची। शव का पोस्टमार्टम कराया और दम घुटने व डूबकर मौत की बात कहकर मामले को रफा दफा कर दिया। लेकिन प्रेमशंकर इस बात को मानने के लिए तैयार नहीं था। प्रेमशंकर का कहना था कि गांव के सुधीर गंगवार ने तांत्रिक के साथ मिलकर बच्चे की बलि दी है, ताकि वो जमीन में दबा खजाना पा सके। जब पुलिस ने उसकी बात नहीं सुनी तो प्रेमशंकर खुद हत्या की वजह की तलाश में जुट गया। तालाब के आसपास के खेत में जहां शव मिला था, उसके इर्द गिर्द खेतों की छानबीन की।

पिता ने सौंपे सबूत तो खुला राज
इस दौरान उसको आरोपी सुधीर गंगवार के खेत में एक गड्ढा मिला, जिसमें कुछ जगह खून के निशान मासूम के बाल मिले। इसका वीडियो बनाकर प्रेमशंकर ने पुलिस को सौंपा। इसके बाद हरकत में आई। फिलहाल पुलिस ने इस मामले में तांत्रिक समेत दस लोगों को गिरफ्तार किया है। इसके साथ ही हत्या में इस्तेमाल किया गया सूजा, खून से सना कपड़ा और पूजा का सामान, त्रिशूल आदि बरामद किया है। पकड़े गए आरोपियों का मेडिकल कराकर जेल भेजा जा रहा है। दो अन्य आरोपियों की तलाश की जा रही है।

Show More
suchita mishra
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned