जन्माष्टमी का प्रसाद खाने के ​बाद 34 लोगों की हालत बिगड़ी

जन्माष्टमी का प्रसाद खाने के ​बाद 34 लोगों की हालत बिगड़ी

suchita mishra | Publish: Sep, 04 2018 01:05:47 PM (IST) Pilibhit, Uttar Pradesh, India

पीलीभीत के गांव पतरसिया में जन्माष्टमी का चल रहा था भंडारा। प्रसाद खाने के बाद एक साथ 34 लोग हुए बीमार।

 

पीलीभीत। जिले के बरखेड़ा थाना क्षेत्र के गांव पतरसिया में जन्माष्टमी के दिन भण्डारे में बने कढ़ी-चावल का प्रसाद खाने के बाद अचानक 34 लोगों की तबियत बिगड़ गई। प्रसाद के खाने के करीब एक घन्टे बाद ही उनके पेट में दर्द उठने लगा और फिर उल्टी-दस्त शुरू हो गए। बीमार लोगों में ज्यादातर बच्चे शामिल हैं। आनन-फानन में बीमार लोगों को सीएचसी बरखेड़ा भर्ती कराया जहां से उन्हें जिला अस्पताल रेफर कर दिया गया। फिलहाल सभी की हालत खतरे से बाहर बताई जा रही है।

ये है मामला
गांव पतरसिया के काली मन्दिर में हर साल की तरह इस बार भी जन्माष्टमी का त्योहार धूमधाम से मनाया जा रहा था। यहां कार्यक्रम के बाद भण्डारे का भी आयोजन किया गया था जिसमें कढ़ी-चावल बनवाये गये थे। गांव के सभी लोगों ने कढ़ी चावल का प्रसाद खाया। रात करीब 10 बजे के बाद कई लोगों की तबियत अचानक बिगड़ना शुरू हो गई। पहले पेट दर्द हुआ, इसके बाद उल्टी-दस्त होने लगे। कई लोगों की हालत बिगड़ने पर गांव में अफरा तफरी मच गई। इसकी सूचना यूपी 100 और एंबुलेंस 108 पर दी गई। इसके बाद 34 लोगों को सीएचसी बरखेड़ा लाया गया। यहां से 19 लोगों को गंभीर हालत देखते हुए जिला अस्पताल रेफर कर दिया गया।

जायजा लेने आलाधिकारी पहुंचे
घटना की जानकारी मिलने पर एसडीएम बीसलपुर वंदना त्रिवेदी, सीओ सिटी धर्म सिंह मार्छाल, कोतवाल केपी सिंह भी जिला अस्पताल पहुंच गए और लोगों का हालचाल जाना। बीमार होने का कारण फूड पॉयजनिंग माना जा रहा है। फिलहाल सभी लोग खतरे से बाहर हैं। लेकिन फिर भी प्रशासन ने इस मामले को गंभीरता से लेते हुए कढ़ी चावल का सैंपल सील करा दिया है।

Must Read - गरीब और जरूरतमंदों के लिए राहतभरी खबर, इस सरकारी मेडिकल स्टोर पर मिलेंगी आधे से भी कम रेट पर दवाएं

Read it - ऊपर से नीचे तक कान्हा के समर्पण की सरकार, ब्रज 84 कोस का होगा सर्वांगीण विकास: श्रीकांत

 

 

Ad Block is Banned