ब्रिटिशकालीन कटना नदी के पुल का होगा पुनर्निर्माण

ब्रिटिशकालीन कटना नदी के पुल का होगा पुनर्निर्माण

Mukesh Kumar | Publish: Dec, 25 2017 07:30:51 PM (IST) Pilibhit, Uttar Pradesh, India

राज्य सेतु निगम ने कटना नदी पुल के पुनर्निर्माण के लिए पांच करोड़ रुपए की धनराशि रिलीज कर दी है।

पीलीभीत। वर्षों से जर्जर हालत में पड़े ब्रिटिश कालीन कटना नदी पुल के दिन बहुरने वाले हैं। राज्य सेतु निगम ने इस पुल के पुनर्निर्माण के लिए पांच करोड़ रुपए की धनराशि निर्गत की है। इस पुल के बनने के बाद बीसलपुर से बिलसंडा को जाने वाला रोड खुटार, बंडा से होते हुए गोला गोकर्णनाथ व लखीमपुर तक की सीमा तय करने वाले यात्रियों को बहुत फायदा पहुंचेगा। बीसलपुर से पूर्व मंत्री व भाजपा विधायक रामसरन वर्मा के प्रयासों से अब यह मार्ग पूरी तरह से चालू हो जायेगा।


1946 में बना था ये पुल
बीसलपुर विधानसभा क्षेत्र में कटना नदी पर यह पुल करीब ब्रिटिश शासनकाल में 1946 में बनकर तैयार हुआ था। उस वक्त के वाहनों को देखते हुए यह पुल बनाया गया था, लेकिन आज के वक्त के वाहन देखते हुए यह काफी पतला है और बुरी तरह से क्षतिग्रस्त हो चुका है। पुल जर्जर होने के कारण हर वक्त खतरा बना रहता है। बरसात के दिनों में बाढ़ आने पर नदी का पानी पुल के ऊपर से गुजरने लगता है। जिससे आवागमन बंद हो जाता है। इस पुल की वजह से आये दिन कोई ना कोई हादसा होता है जिसमें कई मौतें भी हो चुकी हैं। आज तक किसी भी जनप्रतिनिधि ने पुल को बनवाने की दिशा में कोई कार्रवाई नहीं की। पुल न बनने के कारण क्षेत्र का विकास कार्य भी प्रभावित हो रहा है।


भाजपा विधायक ने उठाई थी मांग
क्षेत्रीय भाजपा विधायक रामसरन वर्मा ने बीती सरकार में भी इस पुल के बनवाने की मांग की थी, लेकिन उनकी यह मांग पूरी नहीं हो सकी। इस बार प्रदेश में भाजपा की सरकार बनते ही मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने विधायक की मांग को स्वीकार कर लिया और पुल बनाने के लिए हरी झंडी दे दी। शासन ने पुल के लिए 5 करोड़ रुपए मंजूर कर राज्य सेतु निगम को रिलीज कर दिया गया है। इससे शीघ्र ही पुल बनने का रास्ता साफ हो गया है। इस खबर से क्षेत्र की जनता में खुशी की लहर दौड़ गयी है।

खबरें और लेख पड़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते है । हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते है ।
OK
Ad Block is Banned