मालिक को बचाने के लिए कुत्ते बन गए शेर, बाघ को खदेड़ा

मालिक को बचाने के लिए कुत्ते बन गए शेर, बाघ को खदेड़ा

suchita mishra | Publish: Dec, 07 2017 04:46:26 PM (IST) Pilibhit, Uttar Pradesh, India

खेत पर बनी झोपड़ी में सो रहे किसान पर बाघ ने किया हमला, तभी उसके वफादार कुत्तों ने बाघ को खदेड़कर मालिक की जान बचाई।

पीलीभीत। जिले में एक ऐसा मामला सामने आया है जिसके बारे में सुनकर आप भी हैरान रह जाएंगे। यहां जिले के ग्राम दियोरिया निवासी शेर मोहम्मद अपने खेत पर बनी झोपड़ी में सो रहे थे, तभी एक बाघ ने उन पर हमला कर दिया। लेकिन शेर मोहम्मद की चारपाई के आसपास लेटे पालतू कुत्तों का झुंड बचाव में सामने आ गया। कुत्तों के झुंड ने बाघ को दौड़ा लिया, जिसके बाद वह भागकर एक गन्ने के खेत में जा घुसा। बाघ के गन्ने के खेत में छिपे होने के कारण दहशत में किसान अपने खेतों पर जाने से डर रहे हैं। फिलहाल मामले की सूचना वन विभाग के अधिकारियों को दे दी गई है।

ये था पूरा मामला
दरअसल पीलीभीत के ग्राम दियोरिया निवासी शेर मोहम्मद का पड़ोस के ही गांव खपटिया में खेत हैं। खेत में उसने झोपड़ी डाल रखी है। जंगली जानवरों से फसल को बचाने के लिए रात्रि में वह झोपड़ी में ही लेट जाते हैं। बीती रात लगभग दस बजे जब वे सो रहे थे। इसी दौरान एक बाघ वहां पहुंच गया और किसान पर झपट्टा मार दिया। उस दौरान करीब आधा दर्जन कुत्ते भी किसान की चारपाई के पास सो रहे थे। जैसे ही बाघ ने शेर पर हमला किया, सभी कुत्ते इकट्ठे होकर उसके बचाव में आ गए और बाघ को दौड़ा लिया। किसान ने पुआल और गन्ने की पताई एकत्र करके आग जलाई और शोर मचाने लगा। शोर सुनकर गांव के तमाम लोग मौके पर एकत्र हो गए। उन्होंने पतेल जलाकर रोशनी कर शोर किया। इसके बाद वन क्षेत्राधिकारी जेपी पांडेय को सूचना दी गई। रेंजर ने मंगलवार को सुबह गांव में टीम को भेजकर बाघ को ढूंढने के लिए कॉम्बिंग कराई, लेकिन सफलता नहीं मिली।

आपको बता दें कि करीब एक सप्ताह पूर्व इसी पशुशाला में बंधी चार अन्य गायों को भी बाघ मार चुका है। इसके अलावा दो जंगली सुअर, एक नीलगाय समेत दियोरिया क्षेत्र के आधा दर्जन से अधिक अन्य मवेशियों को भी बाघ अपना निवाला बना चुका है। लेकिन अब बाघ इंसानों पर भी हमला करने लगा है। एक सप्ताह पूर्व ग्राम खपटिया के शंकरलाल पर उसने हमला बोला था, परंतु मौके पर ग्रामीणों की अधिक भीड़ होने के कारण शोर मचाने पर वह खेतों की ओर भाग गया था। पालतू कुत्तों ने बाघ से मोर्चा लेकर मालिक की जान बचा ली। डर के कारण पशुपालकों में खेतों में पशुओं को चराना बंद कर रखा है। इन घटनाओं से ग्रामीण बुरी तरह दहशत में आ गए हैं। उन्होंने अपने जानवरों को खेतों में चराना भी बंद करा दिया है।

Ad Block is Banned