लोगों ने किया चुनाव का बहिष्कार, बैनर पर लिखा- वोट मांग कर शर्मिंदा न हों

पहली बार पीलीभीत नगर पालिका में किसी मोहल्ले वालों ने वोट का बहिष्कार कर अपना विरोध जाहिर किया है।

By: मुकेश कुमार

Updated: 10 Nov 2017, 05:59 PM IST

पीलीभीत। पांच वर्षों में नाली नहीं बनी, सड़क नहीं बनी और न ही बिजली के खम्भे लगे। यह हाल है पीलीभीत शहर की पॉश कालोनी मधुबन का है। यहां के बाशिदों ने बैनर लगाकर वोट बहिष्कार करने का ऐलान किया है। इन लोगों ने निवर्तमान चेयरमैन प्रभात जायसवाल के खिलाफ अपना विरोध जाहिर किया है। आरोप है कि निवर्तमान चेयरमैन ने उनकी कॉलोनी में कोई विकास नहीं कराया है। इसी की वजह से यह लोग इस बार नगर पालिका के चुनाव में वोट नहीं डालेंगे। हालांकि प्रशासन की ओर से अभी तक कॉलोनी वासियों को कोई आश्वासन नहीं दिया गया है।

बैनर लगाकर किया विरोध
पीलीभीत में नामांकन प्रक्रिया खत्म होने के बाद प्रत्याशियों ने अपना जनसंपर्क शुरू कर दिया है। ऐसे में शहर की पॉश मधुवन कॉलोनी के रहने वालों ने मुख्य गेट पर बैनर टांग कर किसी को भी वोट न देने का फैसला लिया है। पीलीभीत नगर पालिका परिषद के अध्यक्ष पद के लिए भाजपा, सपा, बसपा, आप व निर्दलीय महिला प्रत्याशियों सहित कुल 12 महिलाओं ने नामांकन कराया है। महिला प्रत्याशियों ने शहर का विकास कराने का आम जनता से वादा किया है। बैनर पर लिखा है कि न है सड़क न ही बिजली और नहीं है पानी- ऐसी है हमारी पॉश मधुबन कॉलोनी, रोड नहीं तो वोट नहीं, वोट मांगकर शर्मिंदा न हो आदि स्लोगन लिखे हुए हैं।

कॉलोनी में 150 वोट
बता दें कि इस कॉलोनी में रहने वाले लोग सभी सर्वसम्पन्न परिवार हैं और करीब 200 की आबादी है। जिसमें कुल 150 वोट है। करीब 12 वर्ष पूर्व यह कालोनी विकसित हुई थी। कॉलोनी की साज-सज्जा, सड़क, नाली, बिजली खम्भे, पानी की व्यवस्था आदि सभी कॉलोनीवासियों ने स्वयं की थी। कॉलोनी के लोगों को आशा थी कि आने वाला चेयरमैन उन पर भी ध्यान देगा लेकिन किसी भी चेयरमैन ने 12 वर्षों से इस कॉलोनी की ओर रूख नहीं किया। इस कालोनी में रहने वाले तो अमीर लोग हैं, लेकिन यहां जर्जर सड़कें, टूटे नल आदि देखकर ऐसा लगता है कि किसी गरीब बस्ती में आ गये हो।

प्रभात जायसवाल लगातार दो बार जीते
पहली बार पीलीभीत नगर पालिका में किसी मोहल्ले वालों ने वोट का बहिष्कार कर अपना विरोध जाहिर किया है। क्योंकि यहां के निवर्तमान चेयरमैन प्रभात जायसवाल लगातार दो बार से विकास के नाम पर वोट मांगकर जीतते चले आये हैं।

मुकेश कुमार
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned