scriptMuhurat for government wheat purchase was not good | ठीक नहीं रहा सरकारी गेहूं खरीदी का मुहूर्त | Patrika News

ठीक नहीं रहा सरकारी गेहूं खरीदी का मुहूर्त

बीस केंद्रों में केवल एक पर आए मात्र चार ट्रॉली गेहूं

पीथमपुर

Published: March 29, 2022 06:29:32 pm

सांवेर. सोमवार से गेहूं की उपज की न्यूनतम समर्थन मूल्य ( एमएसपी ) 2015 रुपए प्रति क्विंटल पर खरीदी यूं तो सरकारी तौर पर शुरू हो गई मगर किसान सरकारी खरीदी केंद्रों पर गेहूं लेकर ही नहीं पहुंचे। क्षेत्र में समर्थन मूल्य पर गेहूं के उपार्जन हेतु तैयार 20 केंद्रों में से पहले दिन केवल एक संस्था सेवा सहकारी संस्था सांवेर के पास ही तीन ट्रॉली गेहूं आया और शेष 19 पर एक भी किसान नहीं आया। इसके विपरीत सोमवार को सांवेर मंडी , चंद्रावतीगंज उप मंडी और व्यापरियों की निजी गोदामों पर कुल मिलाकर 11 हजार क्विंटल गेहूं का विक्रय किसानों ने इसी एक दिन में किया।
ठीक नहीं रहा सरकारी गेहूं खरीदी का मुहूर्त
ठीक नहीं रहा सरकारी गेहूं खरीदी का मुहूर्त
नागरिक आपूर्ति निगम की ओर से राज्य सहकारी विपणन संघ (मार्कफेड) द्वारा विभिन्न सहकारी संस्थाओं के माध्यम से सांवेर क्षेत्र में 20 स्थानों पर सोमवार से गेहूं का तौल अर्थात सरकारी खरीदी की तैयारी तो हो गई मगर खरीदी का काम नहीं हुआ क्योंकि एक को छोडक़र किसी भी खरीदी केंद्र पर किसान गेहूं लेकर ही नहीं पहंचे। जानकारी लेने पर पता चला कि सेवा सहकारी संस्था सांवेर के माध्यम से अर्पण वेयरहाउस तराना में चार ट्रॉली गेहूं आए। संस्था के प्रबंधक मांगीलाल भगत ने बताया कि संस्था की ओर से सोमवार को कुल 143 क्विंटल गेहूं का उपार्जन किया गया। क्षेत्र में हमेशा सर्वाधिक गेहूं उपार्जन करने वाली संस्था मार्केटिंग सोसायटी सांवेर के पास भी सोमवार को न तो सांवेर मंडी में, न ही चंद्रावतीगंज और मांगलिया उप मंडी (सायलो बरलाई) में कोई ट्रॉली समर्थन मूल्य पर गेहूं लेकर विक्रय करने पहुंची। अन्य 18 सरकारी खरीदी केंद्रों पर भी यही स्थिति रही।
नहीं आने का एक कारण: सांवेर क्षेत्र में समर्थन मूल्य पर गेहूं की खरीदी सभी सहकारी संस्थाओं के माध्यम से ही करवाई जाना है। लेकिन पिछले हफ्तेभर से ज्यादा वक्त से तमाम सहकारी संस्थाओं के कर्मचारी हड़ताल पर हैं इसलिए सरकारी खरीदी प्रभावित होना लाजिमी है, लेकिन इन संस्थाओं के प्रबंधक हड़ताल की वजह को गेहूं की आवक नहीं होना नहीं मानते बल्कि उनका तर्क है कि शासन ने इस बार खरीदी प्रकिया में बदलाव कर दिया है कि किसानों को मैसेज नहीं भेजे जाएंगे बल्कि किसानों को ही अब निर्धारित माध्यम से स्लाट बुक करवाना है चूंकि अधिकांश किसानों को इस बदलाव का पता ही नहीं है इस वजह से पहले दिन के लिए स्लाट बुक नहीं थे। जाहिर है इसी कारण गेहूं की आवक उपार्जन केंद्रों पर नहीं हुई।
दूसरा बड़ा कारण
मंडी भाव
सरकारी खरीदी केंद्रों पर पहले दिन गेहूं नहीं आने की बड़ी वजह मंडी में गेहूं का ऊंचा भाव ऊंचा मिलना है। सांवेर मंडी के सचिव पर्वतसिंह सिसौदिया की ओर से अरुण डाबी ने बताया कि सोमवार को मंडी में हल्के गेहूं भी 1851 रूपए प्रति क्विंटल की भाव बिके जबकि अच्छी किस्म और गुणवत्ता के गेहूं 2237 तक तथा औसत गुणवत्ता के गेहूं समर्थन मूल्य 2015 से ज्यादा 2031 के भाव बिके। जाहिर है इस स्थिति में किसान सरकारी उपार्जन केंद्र पर गेहूं लेकर क्यों जाएंगे। यही वजह रही कि सोमवार को सरकारी 20 खरीदी केंद्रों में से केवल एक केंद्र सांवेर के तराना में मात्र 143 क्विंटल गेहूं आया। इसके विपरीत सांवेर मंडी में सोमवार को 7 हजार क्विंटल, चंद्रावतीगंज उप मंडी में 2 हजार क्विंल से ज्यादा और व्यापारियों के निजी गोदामों पर 4 हजार क्विंटल से ज्यादा गेहूं आया।

सबसे लोकप्रिय

शानदार खबरें

Newsletters

epatrikaGet the daily edition

Follow Us

epatrikaepatrikaepatrikaepatrikaepatrika

Download Partika Apps

epatrikaepatrika

Trending Stories

1119 किलोमीटर लंबी 13 सड़कों पर पर्सनल कारों का नहीं लगेगा टोल टैक्सयहाँ बचपन से बच्ची को पाल-पोसकर बड़ा करता है पिता, जैसे हुई जवान बन जाता है पतिशुक्र का मेष राशि में गोचर 5 राशि वालों के लिए अपार 'धन लाभ' के बना रहा योगराजस्थान के 16 जिलों में बारिश-आंधी व ओलावृ​ष्टि का अलर्ट, 25 से नौतपाजून का महीना इन 4 राशि वालों के लिए हो सकता है शानदार, ग्रह-नक्षत्रों का खूब मिलेगा साथइन बर्थ डेट वालों पर शनि देव की रहती है कृपा दृष्टि, धीरे-धीरे काफी धन कर लेते हैं इकट्ठा7 फुट लंबे भारतीय WWE स्टार Saurav Gurjar की ललकार, कहा- रिंग में मेरी दहाड़ काफीशुक्र देव की कृपा से इन दो राशियों के लोग लाइफ में खूब कमाते हैं पैसा, जीते हैं लग्जीरियस लाइफ

बड़ी खबरें

जम्मू और कश्मीर: आतंकियों के निशाने पर सुरक्षा बल, श्रीनगर में जारी किया गया रेड अलर्टजापान में पीएम मोदी का जोरदार स्वागत, टोक्यो में जापानी उद्योगपतियों से की मुलाकातज्ञानवापी मस्जिद मामलाः सुप्रीम कोर्ट में दाखिल हुई एक और याचिका, जानिए क्या की गई मांगऑक्सफैम ने कहा- कोविड महामारी ने हर 30 घंटे में बनाया एक नया अरबपति, गरीबी को लेकर जताया चौंकाने वाला अनुमानसंयुक्त राष्ट्र की चेतावनी: दुनिया के पास बचा सिर्फ 70 दिन का गेहूं, भारत पर दुनिया की नजरये हमारा वादा है, ताइवान पर चीनी हमले का अमरीका देगा सैन्य जवाब: US President Joe Biden"मेरे लिए ये कोई नई बात नहीं है'- IPL में खराब प्रदर्शन को लेकर Rohit Sharma की प्रतिक्रियासिद्धू की जिद ने उन्हें पहुंचाया अस्पताल, अब कोर्ट में सबमिट होगी रिपोर्ट
Copyright © 2021 Patrika Group. All Rights Reserved.