पद्म पुरस्कारों का ऐलान, अरुण जेटली, सुषमा स्वराज को मरणोपरांत पद्म विभूषण सम्मान

  • गणतंत्र दिवस की पूर्व संध्या पर पद्म पुरस्कारों का ऐलान
  • 7 हस्तियों को पद्म विभूषण सम्मान
  • 16 हस्तियों को पद्म भूषण सम्मान
  • 118 हस्तियों को पद्म श्री पुरस्कार से नवाजा गया

By: Prashant Jha

Updated: 26 Jan 2020, 12:49 PM IST

नई दिल्ली। गणतंत्र दिवस की पूर्व संध्या पर पद्म पुरस्कारों का ऐलान कर दिया गया है। 7 हस्तियों को पद्म विभूषण सम्मान से नवाजा गया है। वहीं 16 हस्तियों को पद्म भूषण सम्मान से सम्मानित किया गया है। जबकि118 हस्तियों को पद्म श्री सम्मान दिया गया है। अरुण जेटली, सुषमा स्वराज और जॉर्ज फर्नाडिस को मरणोपरांत पद्म विभूषण सम्मान से नावाजा गया है। वहीं छन्नू लाल मिश्र, मैरी कॉम पेजावरा मठ के महंत श्री विश्वेशा (मरणोपरांत) क पद्म विभूषण सम्मान मिला है।

इन हस्तियों को मिलेगा पद्म भूषण

मुजफ्फर हुसैन बेग, अजय चक्रवर्ती, मनोज दास, बालकृष्ण दोषी, कृष्णाम्मल जगन्नाथन, मुमताज अली, सैयद मुआजेम अली (मरणोपरांत), एससी जमिर, अनिल प्रकाश दोषी, सेरिंग नंडोल, आनंद महिंद्रा, नीलकंठ रामकृष्ण माधव मेनन (मरणोपरांत), मनोहर पर्रिकर, प्रो जगदीश सेठ, पीवी सिंधु, वेणु श्रीनिवासन । जबकि 118 हस्तियों को पद्म श्री पुरस्कार से नवाजा गया है।

ये भी पढ़ें: गणतंत्र दिवस की पूर्व संध्या पर राष्ट्रपति बोले- 'स्वच्छ भारत अभियान' ने कम समय में प्रभावशाली सफलता हासिल की

इन दिग्गजों को पद्मश्री अवॉर्ड

पद्मश्री में एकता कपूर, कंगना रनौत, अदनान सामी समेत 118 हस्तियों के नाम हैं। पद्म श्री में बाबा जगदीश लाल आहूजा, सामाजिक कार्यकर्ता सत्यनारायण मुनडयूर, सामाजिक कार्यकर्ता जावेद अहमद टेक, सामाजिक कार्यकर्ता एस रामकृष्ण, सामाजिक कार्यकर्ता योगी एरोन को इस पुरस्कार से सम्मानित किया जाएगा। वहीं, 1984 भोपाल गैस त्रासदी के कार्यकर्ता अब्दुल जब्बार को भी मरणोपरांत इस सम्मान से नवाजा जाएगा।

इन दिग्गजों को मिलेगा अवॉर्ड

बता दें कि जगदीश आहूजा को लंगर के लिए जाना जाता है। उन्होंने कहा कि 1980 के दशक में मुफ्त भोजन बांटना शुरू कर दिया। साथ ही मरीजों को आर्थिक सहायता से लेकर कंबल और कपड़े तक अन्य सहायता मुहैया कराने के लिए जाना जाता है। वहीं 15 सालों तक रोजाना 2,000 से अधिक लोगों की सेवा कर रहे हैं।

ये भी पढ़ें: दिल्ली के भजनपुरा में कोचिंग सेंटर की छत गिरी, पांच बच्चों की मौके पर मौत

मुन्ना मास्टर को भी पद्मश्री सम्मान

वहीं मोहम्मद शरीफ चाचा शरीफ के नाम से लोकप्रिय हैं। पिछले 25 सालों से चाचा शरीफ फैजाबाद और उसके आस-पास 25,000 से ज्यादा लावारिस शवों का अंतिम संस्कार किया है।

जयपुर बगरू के मुन्ना मास्टर को पद्मश्री सम्मान से सम्मानित किया जाएगा। भजन गायक मुन्ना मास्टर को भाईचारे के भजन के लिए किया जाएगा सम्मानित।

Show More
Prashant Jha
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned